पलामू में 'लुटे गए बूथों' पर पुनर्मतदान के मांग को लेकर धरना पर बैठे केएन त्रिपाठी 

by -

समाहरणालय के गेट के सामने जमे हैं पार्टी नेताओं और समर्थकों के साथ 

डालटनगंज :

पलामू ज़िले के डालटनगंज विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी और पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी शनिवार की शाम मतदान का समय समाप्त होते ही समाहरणालय पहुँच कर धरने पर बैठ गए। त्रिपाठी ने सभा को सम्बोधित करते हुए आरोप लगाया कि उन्हें मतदान केंद्र में प्रवेश नहीं करने दिया गया। अपशब्दों को प्रयोग किया गया, पीछे से मारा गया और हत्या का प्रयास किया गया। 

यह भी पढ़ें : पलामू में कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं में झड़प

कांग्रेस के नेता पलामू के अधिकारियों पर कार्रवाई और लुटे गए बूथों पर पुनर्मतदान की मांग कर रहे हैं। 


बता दें कि त्रिपाठी और भाजपा के उम्मीदवार आलोक चौरसिया के समर्थकों के बीच चैनपुर प्रखंड के कोशियारा मतदान केंद्र पर भिड़ंत हो गयी थी और त्रिपाठी द्वारा हंगामे के दौरान पिस्तौल हवा में लहराने से सनसनी फ़ैल गयी थी। त्रिपाठी ने कहा कि उन्हें मतदान केंद्र में प्रवेश करने से रोका गया और लोकतान्त्रिक अधिकारों का हनन किया गया जबकि भाजपा के नेताओं ने कहा कि त्रिपाठी अपने समर्थकों के साथ हथियार के बल पर वोटरों को डराना चाहते थे। 

यह भी पढ़ें : पिस्तौल लहराने की घटना के बाद हथियार और तीन ज़िंदा गोली जब्त 

घटना के बाद जिला प्रशासन ने त्रिपाठी को हिरासत में ले लिया था और डीसी और एसपी ने उनसे इस सम्बन्ध में पूछताछ की थी। दो घण्टे के बाद उन्हें जाने दिया गया था। 

त्रिपाठी ने कहा कि उनकी मांगे पूरी होने तक यह धरना शांतिपूर्ण तरीके से चलता रहेगा।

मौके पर कांग्रेस के पलामू जिलाध्यक्ष जैस कुमार पाठक उर्फ़ बिट्टू सहित काफी संख्या में कार्यकर्त्ता उपस्थित थे।

वहीं इस सम्बन्ध में अधिकारियों से पक्षकथन नहीं मिल सका। 




Related Stories