उप्र में बस पर सियासत हुई तेज़, बिहार के कांग्रेसी हुए लाल

by -

बिहार युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार का कहना है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अभी भी तानाशाही रवैया अपना रही है।

पटना : 

प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए कांग्रेस पार्टी की ओर से 1000 बसों को देने की पेशकश के बाद उत्तर प्रदेश में सियासी उठा पटक तेज हो गई है। भाजपा और कांग्रेस दोनों की ओर से एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने का सिलसिला शुरू हो गया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने कांग्रेस से 1000 बसों के परमिट, फिटनेस ,चालकों-परिचालकों का विवरण मांगने के बाद ये आरोप लगाया कि इनमें दिए गए वाहनों के नंबर फर्जी हैं।

सरकार के आरोपों का जवाब देते हुए कांग्रेस पार्टी ने यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी पर इस मुश्किल समय में भी राजनीति से प्रेरित होकर काम करने का आरोप लगा दिया।

कांग्रेस नेताओं को कहना है कि सरकार मजदूरों की परेशानी को लेकर संवेदनशील है ही नहीं। वो ये नहीं चाहती कि कांग्रेस पार्टी उनकी मदद करे।


इधर, उत्तर प्रदेश की सियासत पर बिहार के कांग्रेसी भी भड़क गए | बिहार युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार का कहना है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अभी भी तानाशाही रवैया अपना रही है। उन्होंने कहा कि ये समय बहुत ही कठिन है, सरकार को ऐसे समय में राजनीति न करके मजदूरों को उनके घर भिजवाने की व्यवस्था करनी चाहिए, अगर कांग्रेस पार्टी इसमें सहयोग कर रही है तो सरकार को सहयोग लेने में क्या दिक्कत है।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी के अधिकारी भी भाजपा की भाषा बोल रहे है| कुमार ने कहा कि इस दौर में कोरोना की जंग मिलकर जीती जा सकती है |

 




Related Stories