यूपी की चीनी मिल में काम करने गए झारखण्ड के 16 युवक बनाये गए बंधक 

भाग निकलने में सफल रहे गढ़वा के तीन युवकों ने किया मामले का खुलासा 

यूपी की चीनी मिल में काम करने गए झारखण्ड के 16 युवक बनाये गए बंधक 

गढ़वा :

गढ़वा जिले के नगर उंटारी थाना क्षेत्र के गरबाँध के आदिवासी बहुल इलाके के 16 आदिवासी लड़को को यूपी के मुज़फ़्फ़राबाद में चीनी मिल में काम करने के दौरान बंधक बना लिया गया है। यह मामला प्रकाश में आने के बाद गांव में कोहराम मच गया है जबकि पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है। 

मालुम हो कि नगर उंटारी थाना क्षेत्र का गरबांध गांव एक आदिवादी बहुल इलाका है और यहां से काफी संख्या में युवक काम की तलाश में अन्य राज्यों की और पलायन करते हैं। यह गांव सांसद आदर्श पंचायत योजना के तहत भी चयनित है। 

यूपी की चीनी मिल में काम करने गए झारखण्ड के 16 युवक बनाये गए बंधक 

मामले का खुलासा तब हुआ जब बंधक बनाये गए 16 युवकों में से तीन किसी तरह मुक्त होकर मंगलवार को घर पहुंचे और परिजनों को आपबीती सुनाई। घर लौट कर आने वालों में गोपाल उरांव, जितेंद्र उरांव व शिवधारी उरांव शामिल हैं। 

गरबांध गांव निवासी शिवधारी उरांव के पिता बिरझू उरांव ने मंगलवार शाम को थाने में आवेदन देकर 11 नाबालिग सहित 16 लड़कों को मुक्त कराने की गुहार लगाई है। बिरजू के आवेदन पर पुलिस ने मामला दर्ज कर अनुसंधान में जुट गई है। पुलिस ने इस सम्बन्ध में तीनो युवकों से घटनास्थल सहित अन्य बिंदुओं पर पूछताछ की है।

यूपी की चीनी मिल में काम करने गए झारखण्ड के 16 युवक बनाये गए बंधक 

बिरझू ने थाने को दिए आवेदन में लिखा है कि मेरे पुत्र शिवधारी उरांव को सीमावर्ती सोनभद्र जिले के चुर्क थाने के सिद्धि कला गांव निवासी अरुण सिंह पिता बुद्धि नारायण सिंह के द्वारा फोन कर मुजफ्राबाद में चीनी और गुड़ मिल में काम करने के लिए बुलाया गया। अरुण सिंह के बात पर मेरे लड़के शिवधारी उरांव के साथ गांव के 15 अन्य लड़के पिछले माह 20 जून को गए‌। वहां जाने के बाद सभी लड़कों को अलग-अलग जगहों पर ठेकेदार बुद्धि नारायण सिंह ने काम पर लगा दिया। इसके बाद से हम लोगों का किसी लड़के से कोई बात नहीं हो पा रही है। सभी लड़कों के अभिभावक परेशान हैं। इसी बीच मेरा लड़का शिवधारी उरांव किसी तरह घर के मोबाइल पर नंबर से फोन कर बताया कि हम लोगों को यहां बंधक बना लिया गया है। हम लोगों का सारा कागजात आधार कार्ड, एटीएम कार्ड, पैन कार्ड सब लूट लिया गया है तथा कहीं बाहर नहीं निकलने दिया जाता है। हम लोगों को बंद करके रखा गया है।

यूपी की चीनी मिल में काम करने गए झारखण्ड के 16 युवक बनाये गए बंधक 

गांव के शिवनाथ उरांव ने बताया कि बच्चों के भविष्य को लेकर काफी चिंता हो रही है। घर के लोग खा पी भी नही रहे हैं। पुलिस से मांग करते है कि जल्दी इनलोगो को रिहा कराकर घर सकुशल लाया जाए।

वही बिरझु उरांव ने कहा की उन्हें पुलिस पर भरोसा है। पुलिस से मांग करते है कि बच्चों की रिहाई के साथ ऐसा करने वाले लोग पर सख्त कार्यवाई की जाए। जिन लोगो को बंधक बनाए जाने की प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

यूपी की चीनी मिल में काम करने गए झारखण्ड के 16 युवक बनाये गए बंधक 

इस संबंध में डीएसपी मुख्यालय संतोष कुमार ने बताया कि नगर उंटारी के 16 लड़कों को बंधक बनाए जाने का मामला आया है। पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर ली है और मामले की जांच की जा रही है।

देश की अन्य खबरें