एसीबी ने सतबरवा में रेवारातू रोजगार सेवक को घूस लेते पकड़ा

पलामू एसीबी की टीम का इस वर्ष जिले में आठवां ट्रैप केस है

एसीबी ने सतबरवा में रेवारातू रोजगार सेवक को घूस लेते पकड़ा

सुनील नूतन/सतबरवा:

पलामू एसीबी की टीम ने जिले में आठवां ट्रैप करते हुए मंगलवार को सतबरवा प्रखंड कार्यालय में कार्यरत रेवारातू पंचायत के रोजगार सेवक जगदीप कुजूर को पांच हजार रुपए घूस की रकम लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है।

रोजगार सेवक को सतबरवा काली मंदिर के समीप घूस लेते एसीबी की टीम ने धर दबोचा। रोजगार सेवक को एसीबी की टीम अपने साथ मेदिनीनगर ले गई।

एसीबी डीएसपी करुणा नंद राम ने मामले की पुष्टि कर बताया कि एसीबी टीम ने सतबरवा में एक रोजगार सेवक को घूस की रकम के साथ रंगे हाथ पकड़ा है।

उन्होंने आगे कहा कि जिले में भ्रष्टाचार से जुड़े आठवें  मामले में गिरफ्तारी हुई है ।

बताया जाता है कि रोजगार सेवक ने रेवारातू गांव के कूप निर्माण के लाभुक अजमेर आलम से कुआं में भुगतान करने के एवज में 10 हजार रुपए की मांग की थी। लाभुक 5 हजार पहले देने और पांच हजार बाद में देने के बाद बाकी रकम का भुगतान करने को राजी हुआ था।

बाद में भुक्तभोगी ने एसीबी को शिकायत कर दी और 19 जुलाई को मामला दर्ज कराया। जांच के बाद मामला सही पाए जाने के बाद 20 जुलाई को एसीबी ने रोजगार सेवक को दबोच लिया है।

बहुत पहले से कूप बनकर तैयार है

कूप निर्माण के लाभुक अजमेर ने बताया कि रेवारातू में अपने खेत में खाता संख्या 118 प्लॉट 829 योजना संख्या 7080 901501536 व योजना वर्ष 20-21में मनरेगा से कुप मिला। उसे जनवरी 2021 में बनाकर पूर्ण कर दिया गया है। इसी साल के फरवरी-मार्च अप्रैल और जून में प्रत्येक सप्ताह के मास्टर रोल को रोजगार सेवक ने जीरो दिखाकर मजदूरों के मजदूरी भुगतान तक नहीं की। इस दौरान कई बार दौड़ाया गया। लाचार होकर मैंने एसीबी की टीम को सूचना दी।

बताया गया कि कूप की लागत राशि 3 लाख 78 हजार की है जिसमें 89000 भुगतान किया गया है। इस दौरान रोजगार सेवक की शिकायत बीपीओ के अलावे डीडीसी पलामू से की गई। परंतु किसी ने उस पर संज्ञान नहीं लिया।रोसे के पकड़े जाने के बाद प्रखंड व अंचलकर्मी बताने से इनकार किया।वही दोनों कार्यालयों में तैनात लोगों में भय का माहौल बना हुआ है।

देश की अन्य खबरें