क्यों लोगों को बनाते हैं मूर्ख? जानें कब से हुई 'अप्रैल फूल डे' की शुरुआत

'अप्रैल फूल डे' पर कई देशों (Countries) में इस दिन की छुट्टी भी रखी जाती है. मगर जब बात इस दिन के इतिहास (History) को जानने की आती है तो इसका किसी के पास कोई एक जवाब नहीं होता.

ऑनलाइन डेस्क :

दुनिया भर में 1 अप्रैल को 'फूल डे' यानी 'मूर्ख दिवस' के तौर पर मनाया जाता है. इस दिन लोग अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों, भाई-बहनों को अलग-अलग तरीकों से मूर्ख बनाते हैं. इस दिन लोग कई तरह के प्रैंक्स (Pranks) खेलते हैं. कई देशों में तो इस दिन की छुट्टी भी रखी जाती है. इस दिन लोग खुल कर एक-दूसरे के साथ मजाक करते हैं और उन्हें बेवकूफ बना कर उन पर हंसते हैं.

माना जाता है कि इस दिन किए गए मजाक का कोई बुरा नहीं मानता. हालांकि जब बात 'अप्रैल फूल डे' के इतिहास (History) को जानने की आती है तो इसका किसी के पास कोई एक जवाब नहीं होता. यानी इस दिन को मनाने को लेकर कई कहानियां प्रचलित हैं.

आइए जानें 1 अप्रैल (1 April) को फूल डे मनाने की शुरुआत कब से हुई और क्‍यों मनाया जाता है यह-

इसलिए मनाया जाता है अप्रैल फूल

दरअसल, 1 अप्रैल को 'मूर्ख दिवस' के तौर पर मनाने की परंपरा पुराने समय से चली आ रही है. कई जगह मूर्ख दिवस को मनाने की शुरुआत 1392 से बताई जाती है. हालांकि इस संबंध में कोई पुख्‍ता जानकारी सामने नहीं है. कहा तो यहां तक जाता है कि अप्रैल फूल्स डे मनाने की शुरुआत फ्रांस में 1582 में उस समय हुई थी, जब पोप चार्ल्स 9 ने पुराने कैलेंडर की जगह नए रोमन कैलेंडर को शुरू किया था. ऐसे में जो लोग पुरानी तारीख पर नया साल मनाते थे, उन्हें अप्रैल फूल्स कहा जाने लगा. वहीं यह भी माना जाता है कि रोमन त्योहार हिलेरिया को देख कर अप्रैल फूल मनाने की शुरुआत की गई. हिलेरिया उत्सव में लोग अजीब-अजीब कपड़े पहन कर शामिल होते थे और तरह-तरह के मजाक करते थे. इस वजह से इसे अप्रैल फूल डे से जोड़ कर देखा जाने लगा.

कई देशों में ऐसे मनाते हैं यह दिन

अप्रैल फूल डे को दुनिया के कई देशों में अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है. आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और ब्रिटेन में अप्रैल फूल डे सिर्फ दोपहर तक मनाया जाता है. इन देशों में माना जाता है कि अखबार केवल सुबह के अंक में मुख्य पेज पर अप्रैल फूल डे से संबंधित विचार छापते हैं, इसलिए अप्रैल फूल डे दोपहर तक ही मनाया जाना चाहिए. इसके अलावा फ्रांस, आयरलैंड, इटली, दक्षिण कोरिया, जापान रूस, नीदरलैंड, जर्मनी, ब्राजील, कनाडा और अमेरिका सहित कई देशों में अप्रैल फूल डे वाले दिन हंसी-मजाक का सिलसिला पूरे दिन चलता है. वहीं इटली, बेल्जियम और फ्रांस में इस दिन लोग एक-दूसरे की पीठ पर कागज की मछलियां बना कर इन्‍हें पीठ पर चिपका देते हैं. इस वजह से लोग इसे अप्रैल फिश के नाम से भी जानते हैं.

देश की अन्य खबरें