चंदवा: बुनियादों समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर सांसद आदर्श ग्राम में तीन दिवसीय आंदोलन शुरू

सड़क के अभाव में गांव तक नहीं पहुंचती है एम्बुलेंस

चंदवा: बुनियादों समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर सांसद आदर्श ग्राम में तीन दिवसीय आंदोलन शुरू

दीपक भगत/चंदवा: 
चंदवा प्रखंड के कामता पंचायत का सांसद आदर्श ग्राम चीरोखाड़ (चेटुआग) में सड़क, पेयजल समेत अन्य बुनियादी सुविधाओं के लिए किसानों का तीन दिवसीय भूख हड़ताल शुरू हुआ।

हाथों में लिए तख्ती में हम भी हैं भारत के नागरिक, अपने हाल पर हमें छोड़ दिया गया है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कमल गंझू और संचालन बिशुन गंझू ने किया।

 

Sanjeet
LPS

मौके पर वक्ताओं ने कहा कि आदिवासी, उपेक्षित और अंतिम पायदान पर खडे़ है चिरोखाड़ चेटुआग गांव, अजादी के बाद से प्रशासनिक और जन प्रतिनिधियों की उपेक्षा का शिकार है। न तो यहां सड़क है न पेयजल और न अन्य बुनियादी सुविधाएं हैं। आंदोलन के दौरान प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और प्रशासन से एंबुलेंस और चारपहिया वाहन चलने लायक सड़क बनवाने की मांग की गई। कहा कि ऐसा होने से मरीज खटिया और डोली की जगह वाहन से अस्पताल पहुंच पाएंगे।

 

मौके पर पंचायत समिति सदस्य अयूब खान, कमल गंझू, बिशुन गंझू, विशेश्वर गंझू, राजकुमार गंझू, मुठस गंझू, सनिचर गंझू, रामबृछ गंझू, द्वारिका ठाकुर, ग्राम प्रधान सुरेश उरांव, निशा उरांव, सुमंती कुमारी, बिमला उरांव, सुगवा देवी, करिश्मा देवी, अंजली देवी, कबूतरी देवी, जतरी देवी, शांति देवी, रुपा देवी, रनवा देवी, रुकमनी देवी, किरन माझी समेत बड़ी संख्या में गांव के आदिवासी महिला पुरुष शामिल थे।

देश की अन्य खबरें