नियमित रूप से स्वैक्षिक रक्तदान के लिए कमरुल आरफी सीएमसी वेल्लोर ने किया सम्मानित

प्रतिस्ठित संस्थान के द्वारा सम्मानित किये जाने पर कमरुल आरफी ने कहा कि 'मौका दीजिए अपने लहू को किसी की रगों में बहने का

नियमित रूप से स्वैक्षिक रक्तदान के लिए कमरुल आरफी सीएमसी वेल्लोर ने किया सम्मानित

बालूमाथ:

नियमित रूप से स्वैक्षिक रक्तदान के लिए झारखण्ड के लातेहार जिला के बालूमाथ ग़ालिब कॉलोनी मोहल्ले के रहने वाले पूर्व विधायक के बालूमाथ प्रतिनिधि रहे स्वतंत्र पत्रकार कमरुल आरफी को देश के तमिलनाडु स्थित प्रतिस्ठित क्रिस्चन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर ने प्रशस्ति-पत्र व बैज देकर सम्मानित किया है।

कमरुल आरफी को विगत वर्षों में नियमित रूप से वोलेंटरी रक्तदान करने के लिए सीएमसी के ब्लड बैंक यूनिट ने प्रसंशा की है।


कमरुल आरफी को यह सम्मान लगातार पंद्रहवीं बार स्वैक्षिक रक्तदान के पश्चात दिया गया है।

संस्थान ने इस चुनौतीपूर्ण समय में जब वोलेंटरी रक्तदान का औसत अपने निमनतम स्तर पर हो रक्तदान करने तथा रक्तदान के लिए प्रेरित करने के लिए भी डोनर को धन्यवाद प्रेषित किया है।

प्रतिस्ठित संस्थान के द्वारा सम्मानित किये जाने पर कमरुल आरफी ने कहा कि 'मौका दीजिए अपने लहू को किसी की रगों में बहने का, ये लाजवाब तरीका है कई जिस्मों में जिंदा रहने का।' किसी लेखक के इन पंक्तियों से मैं बहुत प्रेरित हूँ। मानवीय मूल्यों के आधार पर किसी के लिए आप रक्तदान करते हैं तो यह अपने आत्मसंतुष्टि का बेहतरीन ज़रिया है।

देश की अन्य खबरें