कोरोना का खौफ : मृतक को ठेले से श्मशान घाट पहुँचाया 

हालांकि मौत का कारण स्पष्ट नहीं था, फिर भी परिजन रहे दूर 

लातेहार :

कोरोना संक्रमण का खौफ इस कदर हावी हो गया है कि मौत के बाद शव को कंधा भी नसीब नहीं हो रहा है। ऐसा ही मामला सोमवार को बारियातु प्रखंड में देखने को मिला। मरीज की मौत के बाद परिजनों ने एंबुलेंस या किसी गाड़ी की व्यवस्था ना होने की वजह से शव को ठेले से श्मशान घाट पहुंचाया जहां उसका अंतिम संस्कार किया गया।

बताया जाता है कि प्रखंड मुख्यालय के बस्ती रोड निवासी संजय पासी (35)पिता स्व अन्नू पासी की मौत के बाद परिजनों ने उसके शव को ठेले से अंतिम संस्कार के लिये श्मशान घाट तक ले गए। मृतक संजय के परिजनों ने बताया कि वह पिछले कुछ दिनों से खांसी बुखार से पीड़ित था। जब उसे सांस लेने में परेशानी होने लगी तो परिजन उसे इलाज के लिए हजारीबाग ले जा रहे थे कि रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

मौत के बाद जब उसके शव को घर लाया गया तो परिजन भी कोरोना के खौफ से शव के करीब नहीं गए। बाद में बारियातू टीओपी प्रभारी कुबेर साव मानवता का परिचय देते हुए मृतक के घर पहुंचे और एमपीडब्ल्यू संदीप कुमार से चार पीपीई कीट की व्यवस्था की। साथ ही अंतिम संस्कार के लिए लकड़ी व कफन की भी व्यवस्था की। इसके बाद परिजनों ने पीपीई कीट पहनकर शव को ठेले से श्मशान घाट पहुंचाया और अंतिम संस्कार किया।

हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि मरीज की मौत कोरोना से हुई या किसी और वजह से लेकिन टीओपी प्रभारी ने फिलहाल मृतक के परिजनों को होम कोरेन्टाइन में रहने की सलाह दी। मृतक अपने पीछे चार पुत्री व एक पुत्र छोड़ गया है। इस तरह अचानक हुई मौत से प्रखंडवासियों में दहशत व्याप्त है।

देश की अन्य खबरें