महुआडांड़: स्वयंसेवी संस्था जन सेवा समिति ने सुदूरवर्ती क्षेत्र में कपड़े, मास्क व बिस्किट का किया वितरण

ग्वालखाड़ में कोरवा, बिरिजिया और नगेसिया समुदाय के लोग निवास करते हैं

महुआडांड़: स्वयंसेवी संस्था जन सेवा समिति ने सुदूरवर्ती क्षेत्र में कपड़े, मास्क व बिस्किट का किया वितरण

शहजाद आलम/महुआडांड़:

महुआडांड़ की स्वयंसेवी संस्था जन सेवा समिति के द्वारा शनिवार को महुआडांड़ के सुदूरवर्ती क्षेत्र चम्पा पंचायत के ग्राम ग्वालखाड़ कपड़े मास्क व बिस्किट का वितरण किया गया।

ग्वालखाड़ ग्राम जाने के लिए महुआडांड़ से लगभग 12 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है जिसमें 8 किलोमीटर रोड की हालत काफी जर्जर है आने जाने के लायक नहीं है।

कोई भी वाहन तथा पैदल आवागमन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। जिसके बावजूद भी जन सेवा समिति के सदस्यों ने दो पहिया वाहन में कपड़े लेकर ग्वालखाड़ गांव पहुंचे।

इससे पूर्व संस्था के सचिव शहजाद आलम को द्वारा कपड़े वितरण की जानकारी वहां के लोगों को दी गई थी जानकारी पाकर सभी ग्रामीण वहां पहुंचे हुए थे। जिसके बाद उपस्थित दर्जनों महिला, पुरुष, वृद्ध व बच्चों के बीच संस्था के लोगों के द्वारा कपड़े मास्क एवं बिस्किट का वितरण किया गया।

बता दें कि ग्वालखाड़ में कोरवा बृज्या और नगेसिया समुदाय के लोग निवास करते हैं और लगभग यहां की आबादी 50 से 55 घरों की है।

लगभग सभी घरों के लोगों का इसका लाभ मिला। इस संबंध में संस्था के अध्यक्ष मोहम्मद खुर्शीद आलम सचिव मोहम्मद शहजाद आलम ने बताया कि हमारी संस्था महुआडांड़ प्रखंड के सुदूरवर्ती क्षेत्र जहां पर अधिकतर आदिम जनजाति के लोग रहते हैं वहां जाकर इस तरह का कार्य कर रही है। ताकि लोगों तक पहुंच कर मदद की जा सके। इसका लाभ सुदूरवर्ती क्षेत्र के लोगों को मिले इसके लिए हम लोग सभी तत्पर हैं।

महुआडांड़: स्वयंसेवी संस्था जन सेवा समिति ने सुदूरवर्ती क्षेत्र में कपड़े, मास्क व बिस्किट का किया वितरण

इस तरह का कार्य हमेशा हम लोगों के द्वारा की जाएगी। इससे पूर्व भी हम लोगों के द्वारा कपड़े मास्क बिस्किट का वितरण किया गया था और लगातार इस तरह का कार्य किया जाएगा ताकि लोग इससे लाभान्वित हो।

इस कार्यक्रम को सफल बनाने में गेटवेल हॉस्पिटल के डॉक्टर असगर हुसैन संस्था के सदस्य लाडले खान, कामरान खान, अख्तर खान, सुल्तान अहमद, अरशद अंसारी, शोएब अख्तर, तोहिद अख्तर, वहीं ग्वालखाड़ के ग्राम प्रधान राधेश्याम, सुरेन्द्र कोरवा, भोला कोरवा, सुखदेव नगेसिया आदि लोगों का सराहनीय योगदान रहा।

देश की अन्य खबरें