गुमला में एक ही परिवार के 5 लोगों की हत्या करने वाले 8 आरोपी गिरफ्तार, डायन बिसाही का था मामला

कामडारा थाना अंतर्गत बुरूहातु गांव में गत मंगलवार की रात एक ही परिवार के 5 लोगों की हुए निर्मम हत्या कर दी गयी थी 

गुमला:

झारखण्ड के गुमला जिले के कामडारा थाना अंतर्गत बुरूहातु गांव में गत मंगलवार की रात एक ही परिवार के 5 लोगों की हुए निर्मम हत्या मामले का पुलिस ने 48 घंटे के अंदर उद्भेदन कर दिया है।

पुलिस अधीक्षक हृदीप पी जनार्दनन ने शुक्रवार को अपने कार्यालय कक्ष में प्रेस वार्ता कर पूरे मामले का खुलासा किया।

वहीं गिरफ्तार आरोपियों में सुनील टोपनो, सोमा टोपनो, सलीम टोपनो, फिरंगी टोपनो, फिलिप टोपनो, अमृत टोपनो, सावन तोपनो और दानियल टोपनो शामिल हैं।

एसपी ने बताया कि एक ही परिवार के सभी लोगों की हत्या का मुख्य कारण अंधविश्वास है। हत्या के उद्भेदन को लेकर एक एसआईटी टीम का गठन किया गया था अनुसंधान के क्रम में पता चला कि गांव में कुछ लोगों के बीमार होने को लेकर ग्रामीण इन्हीं परिवार पर डायन होने का शंका कर रहे थे। शंका के आधार पर ग्रामीणों ने बैठक कर इन्हें दंडित करने का निर्णय लिया।

कामडारा के बुरुहातु गांव के फुटबॉल मैदान में बैठक कर 23 फरवरी को 70-80 ग्रामीणों ने मिलकर निकोदीन टोपनो व उसकी पत्नी जोसफीना डहंगा की हत्या करने का निर्णय लिया था। हत्या करने के लिए आठ लोगों का नाम बैठक में ही तय किया गया जो रात में एक स्थान पर पहुंचे और सभी ने मिलकर हत्याकांड को अंजाम दिया। इसके बाद गिरफ्तार सभी 8 लोगों ने रात में ही साथ में बैठकर दारू पिया और हत्या की रणनीति बनाई। इनके द्वारा निकोदिन टोपनो और जोसफिना टोपनो को टांगी से काटकर हत्या की गई। लेकिन साक्षय को छुपाने की नियत से अन्य 3 लोगों को भी मौत के घाट उतार दिया।

श्री जनार्दनन ने बताया कि उनकी निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त खून लगा हुआ टांगी बरामद कर ली गई है। वही आरोपियों के चप्पल और ट्राउजर भी बरामद किए गए हैं, जिसमें खून के धब्बे हैं।

एसपी ने आगे बताया कि अंधविश्वास का सबसे बड़ा कारण क्षेत्र में शिक्षा की कमी है।

देश की अन्य खबरें