झूला झूलने से मिलते हैं सेहत को कई सारे फायदे

झूला झूलने से केवल ख़ुशी का एहसास ही नहीं होता है, बल्कि झूला झूलने से सेहत को कई सारे फायदे भी मिलते हैं.

ऑनलाइन डेस्क :

बच्चों को तो झूला झूलने (Swinging) का शौक होता ही है. बहुत सी महिलाएं और पुरुष भी झूला झूलना पसंद करते हैं. कुछ लोग अपने इस शौक को पूरा करने के लिए सावन-भादों के महीने में घर में झूला डालते हैं, तो बहुत लोग पार्क और मेले में भी इसका लुत्फ़ उठाने के लिए उत्साहित (Excite) रहते हैं. लेकिन झूला झूलने से केवल आनंद की प्राप्ति ही नहीं होती है, बल्कि झूला झूलने के कई सारे फायदे (Benefits) भी सेहत को होते हैं.

आइये जानते हैं कि झूला झूलने से सेहत को क्या फायदे मिलते हैं.

मूड बेहतर होता है

झूला झूलने से मूड को बेहतर बनाया जा सकता है. किसी वजह से अगर आपका मूड खराब है तो झूला झूलना आपके लिए बेहतर उपाय हो सकता है. इस प्रक्रिया से बॉडी में हैप्पी हार्मोन्स रिलीज होते हैं जो मूड को बेहतर बनाने में मदद करते हैं.

बॉडी की एक्सरसाइज होती है

झूला झूलने से बॉडी की एक्सरसाइज होती है. झूला झूलने के दौरान आप आगे और पीछे की ओर जाते हैं. इस प्रक्रिया से आपकी पूरी बॉडी की एक्सरसाइज़ होती है.

तनाव कम होता है

झूला झूलने से तनाव कम होता है और मन में खुशी का एहसास होता है. उदास होने पर झूला झूलने से उदासी कम होती है और स्ट्रेस लेवल कम होता है.

मसल्स एक्टिव होते हैं

मसल्स को एक्टिव रखने में भी झूला झूलने की प्रक्रिया काफी फायदा पहुंचाती है. झूला झूलने के दौरान आपकी बॉडी आगे-पीछे की ओर मूव करती है. इस कोआर्डिनेशन को बनाए रखने के लिए आपके सभी बॉडी पार्ट्स और आपकी मसल्स उस समय एक्टिव रहती हैं.

बच्चों का बैलेंस और फोकस बढ़ता है

झूला झूलने से बच्चों में फोकस करने की क्षमता बढ़ती है और बच्चा बैलेंस करना भी सीखता है. झूला झूलने से बच्चों की गर्दन में भी मजबूती आती है.

अवेयरनेस बढ़ती है

झूला झूलने से अवेयरनेस बढ़ती है. दरअसल बॉडी जॉइंट्स में रिसेप्टर्स होते हैं और जब वह एक्टिव हो जाते हैं तो बॉडी को इंडिकेशन देना शुरु कर देते हैं. इसलिए जब आप पैरों से झूले को धकेलते हैं, तो आपकी बॉडी जॉइंट्स की एक्टिविटी पर ध्यान देने लगती है. ये एक्टिविटी कॉन्फिडेंस लेवल को बढ़ाने में भी मदद करती है.

बॉडी की एक्सरसाइज होती है

झूला झूलने से बॉडी की एक्सरसाइज होती है. झूला झूलने के दौरान आप आगे और पीछे की ओर जाते हैं. इस प्रक्रिया से आपकी पूरी बॉडी की एक्सरसाइज़ होती है.

देश की अन्य खबरें