सतबरवा में खरीफ फसल बीमा जल्द निष्पादन करने का निर्देश

धान की फसल क्षतिग्रस्त होने पर चार हजार रूपए बीमा देने का प्रावधान

सतबरवा में खरीफ फसल बीमा जल्द निष्पादन करने का निर्देश

सुनील नूतन/सतबरवा:

खरीफ फसल बीमा 2022 के कार्यों का निष्पादन जल्द करने का निर्देश दिया गया है ।

इसको लेकर पलामू जिले के सतबरवा ब्लॉक के सभागार कक्ष में शुक्रवार को बैठक की गई। झारखंड राज्य फसल राहत बीमा योजना के तहत किसानों को दी जानेवाली सुखाड़ प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करने की जिम्मेवारी सभी को सामूहिक रूप से लेने का आग्रह किया गया है।


बीएओ श्यामनारायण ने कहा कि रैयत एवं बटाईदार किसान झारखंड के निवासी होना चाहिए। किसानों की उम्र18 वर्ष अधिक हो, तथा भू- स्वामित्व प्रमाण पत्र / राजस्व लगान रसीद दस्तावेज आवेदक का होना जरूरी है। 10 डिसमिल से 5 एकड़ तक अधिकतम भूमि का बीमा होगा।

बीपीआरओ सुरेश ठाकुर के अनुसार अनियमित मानसून सूखा एवं प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल क्षतिग्रस्त में किसानों को राहत दिए जाने के निर्देश सीएम हेमंत सोरेन जी और कृषि मंत्री बादल पत्रलेख की ओर से मिला है।

 

एटीएम प्रियंका कुमारी, सीआई अनीश सिंह, उपनिरीक्षक सुजीत कुमार ,इंदु लता,पंसे संतोषतिवारी, सूर्यदेव विश्वकर्मा ,भीएलडब्लू धर्मेंद्र बैठा, दिनेश कुमार मौजूद थे।

फसल बीमा मिलने का प्रावधान:

झारखंड सरकार पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार 30 से 50 फीसदी मकई के आवेदक किसानों का फसल क्षतिग्रस्त होने पर प्रति एकड़ तीन तथा धान की फसल क्षतिग्रस्त होने पर चार हजार रूपए बीमा देने का प्रावधान है।

 

प्राकृतिक आपदा से मिलने वाले फसल क्षति का आकलन क्रॉप कटिंग एक्सपेरिमेंट (सीसीई )के आधार पर होता है।

वही मनोज सिंह, मुमताज अंसारी, जोगेंद्र भुईया, घनश्याम साहू, मनोज शर्मा, निरंजन शाह ,इंद्र सिंह, संजीव पाठक, अरविंद सिंह, नयन सिंह सभी कृषक मित्र मौजूद थे।

देश की अन्य खबरें