तेज दिमाग वाले बच्चे के लिए प्रेग्नेंसी में खाएं ये विटामिन

प्रेग्नेंसी में मां के द्वारा किए गए चीजों का सेवन, बच्चों के दिमाग को आगे चलकर प्रभावित कर सकता है।

ऑनलाइन डेस्क :

प्रेग्नेंसी के दौरान मां का स्वास्थ्य, बच्चे के स्वास्थ्य से जुड़ा होता है। पर आपको ये जान कर हैरानी होगी कि प्रेग्नेंसी में किए गए कामों का असर, आपके बच्चे पर जन्म के बाद भी आजीवन रह सकता है। ये हम नहीं, बल्कि दुनिया भर के कई शोध बताते हैं। हाल ही में आया शोध भी बच्चों के ब्रेन और उनकी आई क्यू (IQ) को लेकर कुछ ऐसा ही खुलासा करता है। इस शोध की मानें, तो प्रेग्नेंसी में मां द्वारा लिए गए विटामिन का असर बच्चों में आजीवन दिखता है।

दरअसल, अमेरिका में सिऐटल चिल्ड्रन रिसर्च इंस्टीट्यूट द्वारा किए गए इस शोध में बताया गया है कि गर्भावस्था के दौरान मां द्वारा ज्यादा विटामिन डी (vitamin D)का सेवन करना, उनके बच्चों की आई क्यू (IQ)को तेज बना सकता है। वहीं इस शोध में ये भी बताया गया है कि कैसे विटामिन डी का स्तर, बच्चों के मस्तिष्क के विकास में एक प्रमुख भूमिका निभा सकता है।

प्रेग्नेंसी में विटामिन डी (vitamin D during pregnancy)

द जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित इस अध्ययन से पता चला है कि गर्भावस्था के दौरान मां द्वारा लिए गए विटामिन डी के स्तर को उनके बच्चों के आईक्यू के साथ जोड़ा जा सकता है। दूसरे शब्दों में कहें तो, गर्भावस्था के दौरान उच्च विटामिन डी का सेवन करने वाली महिलाओं का बच्चा बचपन से ही तेज आई क्यू (IQ)वाला होता है। अध्ययन में एक और अवलोकन यह पाया गया कि ब्लैक गर्भवती महिलाओं में विटामिन डी का स्तर, व्हाइट महिलाओं की तुलना में काफी कम होता है।

इस शोध के लिए शोधकर्ताओं ने 2006 से गर्भवती हुई महिलाओं और उनके बच्चों के स्वास्थ्य और विकास के बारे में समय के साथ जानकारी एकत्र की। जिसमें IQ से संबंधित कई कारक विटामिन डी से जुड़ा हुआ था। वहां गर्भावस्था में उच्च विटामिन डी का स्तर 4 से 6 वर्ष की आयु के बच्चों में उच्च IQ से जुड़ा हुआ पाया गया। सिऐटल चिल्ड्रन रिसर्च इंस्टीट्यूट में बाल स्वास्थ्य विभाग, बाल व्यवहार और विकास विभाग के वैज्ञानिक और इस शोध के प्रमुख लेखक मेलिसा मेलो का कहना है कि दुनिया की ज्यादातर महिलाओं में विटामिन डी की कमी देखी जाती है। इसके कारण ही न सिर्फ महिलाओं में हड्डियों से जुड़ी परेशानियां रहती हैं, बल्कि ये उनके बच्चों के दिमाग को भी प्रभावित करता है।मेलिसा मेलो कहती हैं कि ''सामान्य आबादी के साथ-साथ गर्भवती महिलाओं में भी विटामिन डी की कमी आम है, लेकिन अश्वेत महिलाएं में ये परेशानी ज्यादा दिखी। अध्ययन में भाग लेने वाली महिलाओं में से लगभग 46 प्रतिशत माताओं में गर्भावस्था के दौरान विटामिन डी की कमी थी। 

गर्भावस्था में बच्चे का दिमाग कैसे तेज करें?

शोधकर्ताओं ने पाया है कि गर्भावस्था के दौरान माताओं के विटामिन डी का स्तर, उनके बच्चों के आईक्यू से जुड़ा हुआ है इसलिए उनका यह सुझाव है कि प्रेग्नेंसी में महिलाओं को एक अच्छी मात्रा में विटामिन डी का सेवन करना चाहिए। वहीं न्यूट्रिशनल जर्नल में प्रकाशित एक अन्य शोध बताता है कि मां में विटामिन डी की कमी, गर्भाशय में बच्चे के मस्तिष्क के विकास सहित कई प्रक्रियाओं को प्रभावित करती है।

ऐसे में गर्भवती मां को चाहिए कि वो प्रेग्नेंसी के दौरान विटामिन डी से भरपूर चीजों को अच्छी तरह से सेवन करें। इसके लिए मां को अपने खाने में इन चीजों को शामिल करना चाहिए। जैसे कि

मछली,अंडे, गाय का दूध, नाश्ते में अनाज, नट्स एंड सीड्स

तो अगर आपको एक तेज बुद्धि वाला बच्चा चाहिए, तो आपको प्रेग्नेंसी के समय अपने खान-पान और विटामिन डी से भरपूर खाद्य पदार्थों का खास ख्याल रखना चाहिए। साथ ही सुबह की पहली धूप जरूर लें क्योंकि ये विटामिन डी का सबसे नेचुरल सोर्स है।

देश की अन्य खबरें