बारेसाढ़ में किया गया जश्ने गौसुल वारा कॉन्फ्रेंस का आयोजन

ओलमओं के द्वारा हजरत गौसे पाक के शान में नात व कसीदे पढ़े

बारेसाढ़ में किया गया जश्ने गौसुल वारा कॉन्फ्रेंस का आयोजन

शहजाद आलम/महुआडांड़:

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी बारेसाढ़ स्थित बाबा जसीमुद्दीन शाह की मजार पर जश्ने गौसुल वारा कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया।

यह आयोजन पीरे तरिकत हजरत अल्लामा व मौलाना वलीउल्लाह अहमद जया कादरी मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित हुए। यह कॉन्फ्रेंस हजरत अल्लामा व मौलाना फ़िरदौस आलम हक्कानी मायापूर के जेरे शरपरश्ती में सम्पन्न हुई।


जिसमें बाहर से आए ओलमाओ के द्वारा हजरत गौसे पाक के शान में नात व कसीदे पढ़े गए।और अन्य ओलमाओ के द्वारा हजरत गौसे पाक के जीवनी के बारे में उपस्थित लोगों के विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। कहा गया कि इनकी शान बहुत ही आला है।ये सभी वलियों के सरदार हैं। इनकी करामते भी अनेकों हैं। हमें इनकी जीवनी से सिख लेनी चाहिए।इनके द्वारा बताए गए रास्ते पर ही चलकर कामयाबी हासिल किया जा सकता है।

हम सभी को इनके बताए रास्ते पर चलना चाहिए। जिसके बाद बाबा जसीमुद्दीन शाह की मजार पर चादर पोशी की गई। जिसके बाद फातिहा मोहम्मद शब्बीर कादरी के द्वारा किया गया। वहीं अल्लामा व मौलाना वलीउल्लाह अहमद जया कादरी के द्वारा दुआ किया गया।

 

इस जश्ने गौसुल वारा कॉन्फ्रेंस में मोकर्रिर मौलाना अब्दुल वकील, अल्लामा मौलाना गुलाम सरवर फ़ैजी चतुर्वेदी, हाफिज व कारी नुरूल होदा, नात खां रूस्तम हुसैन साहब समेत अन्य ओलमा मौजूद थे। वहीं इस आयोजन को सफल बनाने में जलसा के ओहदेदार सदर इनामूल अंसारी,सिक्रेटरी अलताफ अंसारी, खजांची आरिफ़ हुसैन, अंजुमन कमेटी के सदर मोजाहिद अंसारी, सेक्रेटरी तबारक अंसारी, खजांची आशिक हुसैन,सदरूद्दीन अंसारी, नूर उल अंसारी, बशारत अली, अली हुसैन अंसारी, नसीम अंसारी समेत अन्य लोगों का सराहनीय योगदान रहा।

देश की अन्य खबरें