नीले रंग के केले में हैं अद्भुत गुण

केले में तमाम गुण पाए जाते हैं ये आपको सेहतमंद तो रखेगा ही साथ ही आपके पेट को भी साफ रखने में मदद करता है.

ऑनलाइन डेस्क :

आमतौर पर माना जाता है कि स्वस्थ रहने के लिए फलों का सेवन करना चाहिए. लेकिन तमाम लोग इस महंगाई के जमाने में फलों के स्वाद से दूर ही रह जाते हैं. लेकिन केला (Banana) ऐसा फल है जो आसानी से हर बाजार में मिल जाता है और इसकी कीमत भी अन्य फलों से कम होती है.

केले में तमाम गुण पाए जाते हैं ये आपको सेहतमंद तो रखेगा ही साथ ही आपके पेट को भी साफ रखने में मदद करता है. आपने अब तक सिर्फ हरे या पीले रंग के केले देखे होंगे. लेकिन आज हम आपके एक ऐसे रंग के केले से रूबरू करना जा रहे हैं जिसके बारे में आपने कभी सुना भी नहीं होगा.

 

दरअसल, हम बात कर रहे हैं नीले रंग के केले के बारे में. जिसे ब्लू जावा बनाना के नाम से जाना जाता है. भले ही यह सुनने में थोड़ा अजीब लग रहा होगा, लेकिन यह सच है कि नीले रंग का भी केला होता है लेकिन उसका स्वाद अन्य केलों मुकाबले अलग होता है. नीले रंग के केले का स्वाद आइसक्रीम की तरह एकदम लाजवाब होता है. नीले रंग के रहस्यमय केले को ब्लू जावा बनाना (Blue Java Bananas) कहते हैं. इसके अलावा इसे आइस्क्रीम केला, हवाई केला, नेय मन्नान, केरी या केंजियो के नाम से भी जाना जाता है. बता दें कि नीले रंग के ये खास केले 7 इंच तक लंबे हो सकते हैं.

 

नीले रंग के इस स्पेशल केलों की दो तस्वीरें @ThamKhaiMeng नाम के ट्वीटर यूजर ने शेयर किया है और इसके साथ कैप्शन लिखा है- मुझे ब्लू जावा केले लगाने के लिए किसी ने क्यों नहीं कहा? अविश्वसनीय इसका स्वाद आइसक्रीम की तरह होता है. खूबसूरत ब्लू जावा बनाना की तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं, जिसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं. बता दें कि ब्लू जावा केले की खासियत ये हैं कि इसके पेड़ 4.5 से 6 मीटर यानी 15-20 फीट की ऊंचाई तक बढ़ सकता हैं. इसके वृक्ष की पत्तियां हरे रंग की होती है और फलों के गुच्छे छोटे होते हैं. वहीं फल यानी केले की लंबाई 18 से 23 सेमी यानी 7-9 इंच तक हो जाती है.
 
 
ब्लू रंग के केले में सफेद रंग का मलाईदार फल होता है, जिसका स्वाद बिल्कुल आइसक्रीम की तरह होता है. बता दें कि रोपने के करीब 15 से 24 महीने बाद यह खिलने लगते हैं और इनपर फल आने लगते हैं. ब्लू जावा केले मूल रूप से दक्षिण पूर्व एशिया में पाए जाते हैं. नीले रंग के ये खास केले दक्षिण एशिया और हवाई द्वीपों में उगाए जाते हैं. दक्षिणी अमेरिका में भी इनकी फसल पैदा होने लगी है. बता दें कि ये केले ठंडे प्रदेशों और कम तापमान वाली जगहों पर अच्छी तरह से बढ़ते हैं. गर्म जगहों पर इनका उत्पादन ठीक से नहीं हो पाता. इसीलिए ब्लू जावा बनाना के वृक्ष दक्षिण कैरोलिना, लुइसियाना, टेक्सास, फ्लोरिडा और कैलिफोर्निया जैसे स्थानों पर बहुतायात में मिलते हैं.

देश की अन्य खबरें