माता शबरी के वंशज मांस मदिरा छोड़ें, बच्चों को शिक्षा से जोड़ें

सतबरवा में माता शबरी जयंती सह समाज मिलन समारोह का आयोजन

माता शबरी के वंशज मांस मदिरा छोड़ें, बच्चों को शिक्षा से जोड़ें

सुनील नूतन/सतबरवा :

पलामू के सतबरवा में ट्रेनिंग कॉलेज के मैदान में माता शबरी जयंती सह भुईयां समाज मिलन समारोह में पांकी के विधायक डॉ कुशवाहा शशिभूषण मेहता ने कहा कि माता शबरी के वंशज को मांस -मदिरा त्याग करना होगा। वे अपने बच्चों को शिक्षा से जोड़ें तभी भुईयां समाज का विकास होगा। 

उन्होंने कहा कि प्रगति के पथ पर चलना है तो माता शबरी के द्वारा किए गए कार्य को अपनाएं। उन्होंने भगवान राम को झूठा बेर खिलाया ताकि ईश्वर को किसी भी प्रकार के खट्टे बैर नहीं मिले। भगवान श्री राम के दो पुत्र लव और कुश थे। कुश के वंशज हम लोग हैं। 

वही विधायक आलोक कुमार चौरसिया ने कहा कि माता शबरी और तुलसी वीर की पूजा इस समाज के लोग करते हैं। उनके किए गए कार्य को अपनाने से समाज में उत्थान होगा।

भाजपा अजा के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रभात कुमार भुईयां ने कहा कि हमारे समाज के लोगों को शराब दारु और मांस से परहेज करना होगा। बच्चों को पढ़ा लिखा कर काबिल आदमी बनाने का संकल्प से ही भुईया समाज तरक्की कर सकता है। दारू छोड़े और गाय का पालन करके दूध दही खाये। 

कार्यक्रम की अध्यक्षता मुखिया कइला भुईयां ने किया। संचालन मनोज कुमार भुईयां कर रहे थे।

मौके पर भाजपा अजजा प्रकोष्ठ मंत्री,अवधेश सिंह चेरो, विधायक प्रतिनिधि राजेंद्र सिंह चेरो, विधायक प्रतिनिधि राणा प्रताप कुशवाहा, कमलेश प्रसाद, लाला यादव, आशीष कुमार सिन्हा समेत कई लोगों ने संबोधित किया । वही कार्यक्रम की शुरुआत माता शबरी, दशरथ मांझी, बाबा तुलसी बीर के प्रतिमा पर फूल माला चढ़ाकर श्रद्धा सुमन अर्पित  की गई।

मौके पर समिति के अध्यक्ष सीताराम भुइयां, मुखिया कईला भुईयां, मनोज कुमार भुइयां, सिकंदर भुईयां, अजय उरांव, महेश यादव , योगेंद्र भुइयां, राकेश भुइयां समेत काफी संख्या में समाज के महिला, पुरुष और नौजवान मौजूद थे।

देश की अन्य खबरें