डीसी की पहल पर एनडीआरएफ की टीम पहुंची लातेहार, तालाब से जुलेश्वर उरांव का शव निकाला 

गोदना के जुलेश्वर उरांव गांव के ही तालाब में रविवार को डुब गए थे, ग्रामीण काफी मशक्कत के बाद भी शव ढूंढ नहीं पाए थे 

डीसी की पहल पर एनडीआरएफ की टीम पहुंची लातेहार, तालाब से जुलेश्वर उरांव का शव निकाला 

लातेहार :

लातेहार के डीसी अबू इमरान की पहल पर लातेहार पहुंची एनडीआरएफ की टीम ने रविवार को सदर थाना क्षेत्र के गोदना गांव में तालाब में डूबे जुलेश्वर उरांव (57) का शव सोमवार को खोज निकाला। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि ग्रामीण रविवार को दिनभर की मशक्कत के बाद बाद भी मृतक जुलेश्वर उरांव का शव तालाब से निकाल नहीं पाए थे। इसके बाद ग्रामीणों ने पुरे मामले की जानकारी डीसी को दी और इस दिशा में पहल करने का अनुरोध किया था।

जानकारी मिलते ही डीसी ने एनडीआरएफ रांची के कमांडेंट सरोज कुमार से दूरभाष पर वार्ता कर अविलम्ब टीम भेजने का अनुरोध किया।

डीसी की पहल पर एनडीआरएफ की टीम पहुंची लातेहार, तालाब से जुलेश्वर उरांव का शव निकाला 

इंस्पेक्टर मो0 साजिद के नेतृत्व में एनडीआरएफ की टीम सोमवार को लातेहार पहुंची और गोदना गांव पहुँच कर शव की खोज शुरू कर दी। इसके पहले टीम ने डीसी के साथ मुलाकात की और रेस्क्यू ऑपरेशन पर चर्चा की। डीसी ने लातेहार एसडीओ शेखर कुमार और बीडीओ गणेश रजक को एनडीआरएफ की टीम के साथ समन्वय बनाने का निर्देश दिया। 

घटना से लेनी होगी सीख, युवक एवं युवतियों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

गोदना गांव निवासी जुगेश्वर उरांव की मौत तालाब में डुबने एवं शव निकालने में आ रही परेशानी को देखते हुए डीसी अबु इमरान ने कहा कि घटना से सीख लेने की जरूरत है। उन्होंने युवक एवं युवतियों से अपील की है कि यदि वे एनडीआरएफ जैसे कार्य में दक्ष होना चाहते है, उन्हें जिला प्रशासन के द्वारा प्रशिक्षण दिलवाया जायेगा।

देश की अन्य खबरें