Tokyo Olympic : जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने गोल्ड जीत रचा इतिहास 

ट्रैक ऐंड फील्ड में भारत के लिए 100 वर्षो में पहला ओलिंपिक मेडल जीतने का कारनामा किया 

Tokyo Olympic : जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने गोल्ड जीत रचा इतिहास 

ऑनलाइन डेस्क :

भारत के स्टार जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने इतिहास रच दिया है। उन्होंने जैवलिन थ्रो में गोल्ड जीता है। उनका सर्वश्रेष्ठ थ्रो 87.58 मीटर का है। उन्होंने ट्रैक ऐंड फील्ड में भारत के लिए 100 वर्षो में पहला ओलिंपिक मेडल जीता है। 

इसके साथ ओलंपिक की व्यक्तिगत स्पर्धा में स्वर्ण पदक जितने वाले दूसरे भारतीय खिलाडी बन गए हैं। बीजिंग ओलंपिक 2008 में पहली बार स्वर्ण पदक जीतने का कारनामा दिग्गज शूटर अभिनव बिंद्रा ने किया था। 

यह भारत का तोक्यो में 7वां मेडल भी है। इसके साथ ही भारत ने अपने लंदन ओलिंपिक-2012 के बेस्ट प्रदर्शन 6 मेडल को पीछे छोड़ दिया। इसके पहले पहलवान बजरंग पूनिया ने ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

नीरज ने पहले प्रयास में 87.03 मीटर भाला फेंका, जबकि दूसरे प्रयास में 87.58 मीटर रहा। इसके साथ ही उनका गोल्ड मेडल लगभग पक्का हो गया था, क्योंकि वह दोनों ही राउंड में टॉप पर रहे थे। उन्होंने तीसरे प्रयास में 76.79 मीटर थ्रो किया। दूसरे नंबर पर जर्मन ऐथलीट और गोल्ड मेडल के दावेदार माने जा रहे वी. जकूब ने इस दौरान दूसरा और तीसरा प्रयास फाउल किया और आखिरी प्रयास तक 86.67 मीटर ही भाला फेंक सके। नीरज ने स्वर्ण पदक जीतने के बाद तिरंगा लेकर मैदान का चक्कर लगाया और इसका जश्न मनाया।

देश की अन्य खबरें