प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में आते हैं ये बड़े बदलाव

प्रेग्नेंसी के शुरुआती दौर में कई महिलाओं को पेट या जोड़ों में दर्द की समस्या होती है

ऑनलाइन डेस्क :

इस बात से हम सभी अच्छे से वाकिफ हैं कि गर्भावस्था के दौरान एक महिला के शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं. हर महिला में ये बदलाव भिन्न हो सकते हैं. महिला के शरीर के साथ-साथ कई तरह के मानसिक रूप से भी काफी बदलाव होते हैं. यदि कोई महिला प्रेग्नेंसी के दौरान डिप्रेशन या किसी मानसिक रोग से ग्रसित है तो उसे किसी विशेषज्ञ से इलाज कराने की जरूरत होती है.

प्रेग्नेंसी के शुरुआती दौर में कई महिलाओं को पेट या जोड़ों में दर्द की समस्या होती है. वहीं सुबह के समय जी मिचलाना और उल्टी की परेशानी होना भी बेहद आम है. कुछ महिलाएं कब्ज की शिकायत करती हैं. किसी को भूख ज्यादा लगने लगती है, तो कुछ को बिल्कुल भूख नहीं लगती है. थकान महसूस होना, सीने में जलन, कमर दर्द, कमजोरी महसूस होना, सांस लेने में दिक्कत होना, हाथों-पैरों में सूजन आदि गर्भावस्था के लक्षण हैं.

प्रेग्नेंसी के दौरान मानसिक बदलाव

कुछ महिलाओं को अचानक अपनी प्रेग्नेंसी के बारे में मालूम होता है तो वो बहुत ज्यादा खुश होती हैं, तो कुछ महिलाओं के मन में डर की भावना हावी होने लगती है. लेकिन जो महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान किसी तरह का स्ट्रेस नहीं लेती उनके गर्भ में पल रहा बच्चा हेल्दी होता है.

प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में कई तरह के हॉर्मोन में बदलाव भी होते हैं, जिससे कई महिलाओं को गुस्सा अधिक आता है. इससे कई बार प्रेग्नेंसी में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. कई मामलों में प्रेग्नेंट महिला को अधिक दर्द होने लगता है. कुछ महिलाओं के मन में हर समय बच्चे की हेल्थ को लेकर डर बना रहता है.

इससे भी बच्चे के स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है. यदि आपको इस बात को लेकर किसी तरह का स्ट्रेस है तो बेहतर होगा आप अपने डॉक्टर से इस बात पर चर्चा करें. कई महिलाओं को बच्चे को जन्म देने को लेकर डर सताता रहता है. अपने इस डर को दूर करने के लिए अपने चिकित्सक से मिलें।प्रेग्नेंसी के दौरान मूड स्विंग्स, डिप्रेशन और चिंता होना बेहद आम है. ऐसा शरीर में हॉर्मोन में बदलाव होने के कारण होता है.

देश की अन्य खबरें