सावन माह प्रारंभ होते ही टनकश खुखड़ी की बिक्री जोरों पर

सावन के दिनों में टनकश खुखड़ी नॉन-वेज के विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जाता है

सावन माह प्रारंभ होते ही टनकश खुखड़ी की बिक्री जोरों पर

शहजाद आलम/महुआडांड़:

लातेहार जिले के महुआडांड़ मुख्य बाजार सहित अन्य चौक चौराहों पर टनकश खुखड़ी बिकते हुए दिखा जा सकता है। अन्य दिनों में यह आसानी से नहीं मिलता है। लेकिन सावन के दिनों में यह  नॉन-वेज  के एक अच्छे  विकल्प के रुप में जाना जाता है।

सावन का महीना शुरू होते ही कई घरों में मीठ मछली खाना पकाना बदं हो जाता है, जिससे लेकर इस सावन में अधिकतर लोग शुद्ध शाकाहारी भोजन का सेवन करना शुरू कर देते हैं। ऐसे में बाजार में टनकश खुखड़ी की मांग बढ़ जाती है।

वहीं गांव देहात के लोगों के द्वारा इस समय टनकस खुखड़ी की बिक्री की जाती है। और उन्हें एक तरह से रोजगार भी मिल जाता है। मीट मछली वगैरह नहीं खाने के कारण लोग ऊंचे दामों में भी लेकर इसे बड़े चाव के साथ खाते हैं।

लोगों का कहना है कि यह शुद्ध शाकाहारी होने के साथ-साथ बहुत स्वादिष्ट भी होता है और यह इसी समय मिलता है और बाकी समय नहीं के बराबर मिल पाता है।

देश की अन्य खबरें