शबनम की फांसी में आया नया मोड़, राज्यपाल के लगाई नई दया याचिका 

जेल में जन्मे उसके बेटे ने भी राष्ट्रपति से रहम की गुहार लगाई 

शबनम की फांसी में आया नया मोड़, राज्यपाल के लगाई नई दया याचिका 

ऑनलाइन डेस्क :

उत्तर प्रदेश के अमरोहा में 7 लोगों की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या करने वाली शबनम (Shabnam) ने फांसी से पहले एक बार फिर राज्यपाल आनंदीबेन से दया की गुहार लगाते हुए एक नयी याचिका भेजी है। उसके जेल में ही जन्मे बेटे ताज ने भी राष्ट्रपति से रहम की गुहार लगाई है। 

बता दें कि 15 अप्रैल 2008 को शबनम ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पूरे परिवार जिसमें माता-पिता और 10 महीने के भतीजे समेत सात लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। जिसके बाद उसे फांसी की सजा सुनाई गई थी।

यह भी पढ़ें :

आज़ाद भारत में पहली बार महिला को दी जाएगी फांसी, शबनम की दया याचिका राष्ट्रपति ने की खारिज

शबनम इससे पहले भी एक बार राज्यपाल के पास दया की अर्जी भेज चुकी है, लेकिन उसे खारिज कर दिया गया था। शबनम अपने 12 साल के बच्चे का हवाला देकर रहम की गुहार लगा रही है। 

उल्लेखनीय है कि शबनम का अपराध रेयर ऑफ द रेयरेस्ट कैटेगरी में आता है और 10 महीने के बच्चे और पूरे परिवार की गला काटकर निर्मम ह्त्या करने के चलते उसे कहीं से भी राहत मिलने की उम्मीद नहीं लग रही है। शबनम अभी रामपुर जेल में बंद है जबकि उसका प्रेमी सलीम आगरा जेल में है। 

गौरतलब है कि यूपी के अमरोहा जिले की शबनम और उसका प्रेमी सलीम एक साथ फांसी पर लटकाये जायेंगे। देश में किसी महिला को फांसी देने का यह पहला मामला होगा। इसके लिए मथुरा जेल में तैयारियां भी शुरू हो गयी हैं। निर्भया के दोषियों को फंदे से लटकाने वाले पवन जल्लाद अब तक दो बार फांसी घर का निरीक्षण भी कर चुके हैं। 

देश की अन्य खबरें