पेट के बल सोना फायदेमंद या नुकसानदायक

पीठ समेत गर्दन पर भी अतिरिक्त दबाव पड़ता है और रक्त प्रवाह में कमी आती है

ऑनलाइन डेस्क :

अच्छे स्वास्थ्य के लिए अच्छी नींद और अच्छी नींद के लिए सही तरीके से सोना बेहद जरूरी है.कुछ लोगों को पीठ के बल, पेट के बल, करवट लेकर सोना पसंद होता हैं. ये सारे तरीके आपके शरीर की स्थिति को प्रभावित करती है.

खासकर अगर कोई पेट के बल सोता है तो इस अनुचित स्थिति में सोने से नींद में बाधा, तनाव में वृद्धि हो सकता है.


अगर आप लगातार इसी तरह से सोने की आदत डालेंगे तो आपके लिए समस्या की वजह बन सकती है.कुछ स्थितियों में पेट के बल बिल्‍कुल नहीं सोना चाहिए.

तो आइए जानते हैं इसके बारे में.

ऐसा माना जाता है की पेट के बल सोना नींद की सबसे खराब मुद्रा होती हैं क्योंकि यह फेफड़ों और छाती पर बहुत अधिक दबाव डालता है, जो आपके सांस लेने के कार्य को बाधित कर सकता है।

इसके अलावा , इससे पीठ समेत गर्दन पर भी अतिरिक्त दबाव पड़ता है और रक्त प्रवाह में कमी आती है।

गर्भावस्था के दौरान पेट के बल सोने से गर्भ में शिशु पर असर हो सकता है. 

देश की अन्य खबरें