बिहार : मैट्रिक की सामाजिक विज्ञान की रद्द परीक्षा, अब 8 मार्च को ली जाएगी

प्रश्न पत्र लीक मामले के बाद उठाया गया कदम, विपक्ष ने कसा तंज 

पटना :

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसइबी) द्वारा राज्य में आयोजित की जा रही मैट्रिक की परीक्षा में शुक्रवार को सामाजिक विज्ञान के प्रश्न पत्र लीक मामले के बाद परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। सामाजिक विज्ञान की परीक्षा अब आठ मार्च को ली जाएगी।

बीएसईबी ने एक बयान जारी कर कहा कि शुक्रवार को सामाजिक विज्ञान विषय की परीक्षा के एक प्रश्न पत्र परीक्षा अवधि शुरू होने के पूर्व किसी अन्य व्यक्ति के व्हाटसअप पर भेजे जाने की सूचना प्राप्त होने के बाद बोर्ड ने जांच करवाई, जांच में स्पष्ट हुआ है कि यह प्रश्नपत्र जमुई जिले में भेजा गया था।

बयान में कहा गया, "जांच में पाया गया कि भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) शाखा झाझा के एक संविदा कर्मचारी ने व्हाट्सअप के माध्यम से प्रश्न पत्र लीक किया गया था। पेपर लीक की घटना की प्राथमिकी दर्ज की गई है, पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।"

बयान में कहा गया है, "समिति द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि इस विषय की परीक्षा में शामिल परीक्षार्थियों जिसकी संख्या 8,46,504 है कि सामाजिक विज्ञान की परीक्षा रद्द की गई परीक्षा को दोबारा आठ मार्च 2021 को आयोजित की जाएगी।"

उल्लेखनीय है कि कोविड 19 के काल में बिहार में बुधवार से मैट्रिक की परीक्षा प्रारंभ है। परीक्षा के लिए 1500 से अधिक परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

इधर, प्रश्न पत्र लीक को लेकर राजनीति भी प्रारंभ हो गई है।

बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने शनिवार को अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा, "बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा के लगातार पेपर लीक हो रहे हैं। सरकार गहरी निद्रा में है। हमेशा हमें सरकार को बताना पड़ता है कि ऐसा हुआ है। प्रतिभाशाली और गरीब बच्चों का भारी नुकसान हो रहा है। बिहार बोर्ड के उच्च अधिकारियों की मिलीभगत से ऐसा होता है लेकिन उनपर कोई कारवाई नहीं होती।"

देश की अन्य खबरें