शिक्षक संघ अजाप्टा ने वित मंत्री से बयान वापस लेने की मांग की 

बयान के विरोध में विभिन्न स्कूलों में शिक्षकों ने काला बिल्ला लगाकर कार्य किया

शिक्षक संघ अजाप्टा ने वित मंत्री से बयान वापस लेने की मांग की 

सुनील नूतन/सतबरवा :

झारखंड सरकार के वित्त व खाद्य आपूर्ति मंत्री रामेश्वर उरांव सरकारी शिक्षकों व सरकारी विद्यालयों पर दिए गए बयान को वापस लें अन्यथा शिक्षक संघ जोरदार आंदोलन करेगा।उक्त बातें मंगलवार को पलामू जिला के सतबरवा प्रखंड अजाप्टा के अध्यक्ष गोविंद प्रसाद साहू ने कहीं।

वही सरकारी शिक्षकों ने वित मंत्री के बयान के विरोध में विभिन्न स्कूलों में शिक्षकों ने काला बिल्ला लगाकर कार्य किया।

विदित हो कि कांग्रेस के वरीय नेता और झारखण्ड सरकार में वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने सरकारी स्कूलों की स्थिति को लेकर एक बयान दिया था और शिक्षकों के बारे में अपमानजनक बातें कही थीं। जिसका विरोध में पुरे राज्य के शिक्षक कर रहे हैं। 

सचिव अर्पण कुमार गुप्ता ने कहा कि माननीय मंत्री प्राइवेट विद्यालय को झारखंड के शिक्षा व्यवस्था की रीढ़ बताते हैं जबकि मंत्री महोदय खूद सरकारी स्कूलों में पढ़कर आईपीएस बने। वही कोरोना काल में सरकारी शिक्षकों ने सीमित संसाधन होते हुए भी मजिस्ट्रेट ड्यूटी, चेक नाका ड्यूटी, श्मशान घाट ड्यूटी, कोविड वार्ड में ड्यूटी को बेहिचक शिक्षकों ने अंजाम दिया हैं। वित्त मंत्री महोदय शिक्षक को अपमानित नहीं बल्कि सम्मानित करें।

शिक्षक संघ अजाप्टा ने वित मंत्री से बयान वापस लेने की मांग की 

काला बिल्ला लगाकर विरोध करने वालों में विद्या कुमारी ,लक्ष्मी कुमारी, पायल कुमारी ,प्रफुल्लित लकड़ा ,रामरक्षा प्रसाद ,अभिषेक तिवारी ,भरदुल सिंह, नंदकिशोर सिंह ,उदय गुप्ता ,शबनम आरा,शमीमा खातून,मनोज यादव, वीरेंद्र साहू समेत तमाम विद्यालयों के शिक्षक काला बिल्ला लगाकर काम किया।

देश की अन्य खबरें