मृत्‍यु के समय पास हों ये चीजें तो मिलता है स्‍वर्ग

श्राद्ध से भी ज्‍यादा हैं अहम

ऑनलाइन डेस्क :

मृतक की आत्‍मा की शांति के लिए पितृ पक्ष में श्राद्ध, तर्पण करना बहुत अहम होता है. इससे पूर्वजों को स्‍वर्ग मिलता है. लेकिन कुछ चीजें इतनी शुभ मानी गई हैं कि मरते समय ये पास हों तो भी स्‍वर्ग मिलता है.

गरुड़ पुराण में इन चीजों को बहुत शुभ माना गया है. गरुड़ पुराण के अनुसार यदि मृत्‍यु के समय ये चीजें पास में हों तो श्राद्ध कर्म की भी जरूरत नहीं होती है. ये चीजें मृतक के लिए स्‍वर्ग का रास्‍ता खोलती हैं.

आइए जानते हैं वो कौनसी चीजें हैं, जिनका मरते समय पास में होना बहुत शुभ माना गया है. 


तुलसी 

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि मरते समय व्‍यक्ति के आसपास तुलसी का पौधा हो तो या उसके मुंह और माथे पर तुलसी के पत्‍ते-मंजरियां रख दी जाएं तो मृतक कभी यमलोक नहीं जाता है. उसके लिए स्‍वर्ग के द्वार खुल जाते हैं. 

गंगाजल 

हिंदू धर्म में गंगाजल को बहुत पवित्र माना गया है. गरुड़ पुराण के अनुसार जब व्‍यक्ति की मृत्‍यु करीब हो तो उसके मुंह में गंगाजल जरूर डाल देना चाहिए. ऐसा करने से उसके पाप नष्‍ट होते हैं और वह सीधे स्‍वर्ग जाता है. मान्‍यता है कि गंगा में अस्थि‍यां विसर्जित करने से भी मृतक को स्‍वर्ग मिलता है. जब‍ तक अस्थियां गंगा में रहती हैं व्‍यक्ति स्‍वर्ग के सुख भोगता है. 

कुश

कुश को हिंदू धर्म में बहुत शुभ माना गया है. पूजा-पाठ में कुश का उपयोग प्रमुखता से होता है. मान्‍यता है कि कुश की उत्‍पत्ति भगवान विष्‍णु के रोम से हुई है. मरणासन्‍न व्‍यक्ति को कुश के आसन पर लिटाने से उसे बिना श्राद्ध के भी स्‍वर्ग में स्‍थान मिल जाता है. 

तिल

तिल का श्राद्ध पक्ष में विशेष महत्‍व होता है. पितरों को काली तिल मिले जल से तर्पण किया जाता है. इसलिए मरणासन्‍न व्‍यक्ति से काली तिल का दान करवा दिया जाए तो उस व्‍यक्ति से असुर, दैत्‍य, दानव हमेशा दूर रहते हैं. साथ ही मरने वाले व्‍यक्ति के सिरहाने काली तिल रख देना चाहिए. 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. Info Way 24 इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

देश की अन्य खबरें