कब होती है सफेद जीभ

जीभ देखकर जानिए अपनी सेहत

ऑनलाइन डेस्क :

क्या आपको बचपन की बात याद है, जब आप बीमार हो जाते थे तो डॉक्टर क्‍यों आपकी जीभ बाहर निकालने को कहते थे? वे आपकी जीभ देखकर कैसे पता लगा लेते थे कि आपको क्‍या दिक्‍कत है?

ऐसा कई अध्ययनों में पता चला है कि जीभ के रं और उसमें होने वाले बदलाव के आधार पर ही बीमारी का पता लग जाता है और रोग का निदान भी किया जा सकता है.

जैसे जब भी किसी की जुबान का रंग हल्का गुलाबी होता है तो समझ जाइए की उनके शरीर में किसी डिजीज का अटैक हो गया है. इसी तरह जानते हैं अलग-अलग कलर का मतलब. 


अगर किसी की जीभ भूरी हो जाए तो इसका मतलब होता है कि वे चाय और कॉफी बहुत ज्यादा पीते हैं. इसके अलावा जो लोग सिरगेट या बीड़ी ज्‍यादा पीते हैं. उनकी जीभ भी भूरी हो जाती है. 

जब किसी की जुबान का रंग काला हो जाए तो समझिए ये कोई गंभीर बीमारी का संकेत है. ये कैंसर का संकेत भी हो सकता है और इसके अलावा फंगल इनफेक्शन और अल्सर होने पर भी जीभ काली हो जाती है. जो लोग ज्यादा स्मोकिंग करते हैं उनकी जीभ में भी ऐसी परेशानी आती है.

जब आपकी आपकी जीभ गुलाबी से लाल होने जाए तो इसका मतलब होता है कि आपकी बॉडी में विटामिन बी12 और फॉलिक एसिड काफी ज्यादा कम हो चुका है.

जब किसी की जुबान का रंग नीला या पर्पल हो जाए तो इसका मतलब होता है कि उसे दिल से जुड़ी बीमारियां हो सकती है. 

जब किसी की जीभ पीले कलर की हो जाती है तो इसका मतलब होता है कि शरीर मे पौष्टिक तत्वों की कमी हो रही है. जब लिवर या पेट में दिक्कत होती है तो भी जीभ पर पीली परत चढ़ने लगती है.

जीभ पर जब सफेद रंग आ जाए तो इसका मतबल होता है कि आप मुंह की अच्‍छे से सफाई नहीं कर रहे हैं. इस वजह से सफेद गंदगी की लेयर जीभ पर जमने लगती है.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी घरेलू नुस्खों और सामान्य जानकारियों पर आधारित है. इसे अपनाने से पहले चिकित्सीय सलाह जरूर लें. Info Way 24 इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

देश की अन्य खबरें