साल्टा रेलमार्ग - बादलों के बीच ट्रेन का अद्भुत सफर

अर्जेंटीना में समुद्र तल से चार हजार मीटर की ऊंचाई पर एंडीज पर्वत श्रृंखला से यह रेलवे लाइन गुजरती है.इसे ‘ट्रेन टू द क्लाउड’ कहा जाता है.

ऑनलाइन डेस्क :

दुनिया का एक ऐसा इलाका हैं जहां से ट्रेन गुजरती है तो ऐसा मालूम पड़ता है कि यह बादलों को चीर कर आगे बढ़ रही है. यह रेलमार्ग अर्जेंटीना में है, इसका नाम साल्टा रेलमार्ग है. यह दुनिया के सबसे अद्भुत रेलमार्गों में शामिल है. यह रेलमार्ग बादलों के बीच से गुजरता है.

इस रेलमार्ग पर सफर करने वाले यात्री बादलों के बीच से गुजरते हैं. इस रेलमार्ग पर आपको तमाम ऐसे दृश्य देखने को मिलेंगे जो आपको रोमांचित कर देंगे. इन्हें देखकर आपको अपनी आंखों पर यकीन नहीं होगा. अर्जेंटीना में समुद्र तल से चार हजार मीटर की ऊंचाई पर एंडीज पर्वत श्रृंखला से यह रेलवे लाइन गुजरती है.

इसे ‘ट्रेन टू द क्लाउड’ कहा जाता है. दुनिया के सबसे ऊंचे रेल रूटों में से यह एक है. जब कुछ खास इलाकों से यह ट्रेन गुजरती है, तो ऐसा लगता है कि बादलों को चीर कर यह आगे बढ़ रही है. जब ट्रेन पहाड़ों के बीच से गुजर रही होती है तो दोनों तरफ भारी बादल दिखाई देते हैं. अर्जेंटीना के शहर, सिटी ऑफ साल्टा से इसकी शुरुआत होती है.

इस रेलवे लाइन की ऊंचाई 1,187 मीटर है. वैली डी लेर्मा से गुजरते हुए यह रेलवे लाइन क्वेब्रेडा डेल टोरो से ला पोल्वोरिला वियाडक्ट पर खत्म होती है. जो 4200 मीटर की ऊंचाई पर है. इस रेलवे लाइन की लंबाई 217 किलोमीटर है.

इसका सफर तय करने में ट्रेन को 16 घंटे का समय लगता है. ट्रेन 3000 मीटर की दुर्लभ चढ़ाई भी चढ़ती है. रेलवे मार्ग में 29 पुल और 21 टनल को यह ट्रेन क्रॉस करती है. इस रेलमार्ग का निर्माण 1920 में किया गया था.

देश की अन्य खबरें