मनिका गैंग रेप मामले में यूटर्न- प्रेमी को बचाने के लिए नाबालिग ने गढ़ी थी झूठी कहानी 

पुलिस की तत्परता और सूझबूझ से निर्दोष जेल जाने से बचे, पुलिस ने प्रेमी को पकड़ा 

मनिका गैंग रेप मामले में यूटर्न- प्रेमी को बचाने के लिए नाबालिग ने गढ़ी थी झूठी कहानी 

मनिका :

लातेहार ज़िले की मनिका पुलिस ने गैंग रेप मामले में बड़ा खुलासा किया है। पुलिस ने खुलासा किया कि गैंगरेप के मामले में नाबालिग पुलिस और परिजनों को भरमाने का प्रयास कर रही थी। नाबालिग ने अपने प्रेमी को बचाने के लिए झूठा आरोप लगाकर वीरेंद्र कुमार यादव और दो अन्य पर अपने पिता से फर्जी प्राथमिकी कराई थी।

एसपी प्रशांत आनंद ने मामले की उद्भेदन को लेकर डीएसपी दिलु लोहरा के नेतृत्व में एक टीम गठित कर उक्त मामले के उद्भेदन में लगाया। पुलिस ने 24 घन्टे केअंदर दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया।

डीएसपी दिलु लोहरा ने बताया कि मोबाइल डिटेल खंगालने से स्पष्ट हुआ कि नाबालिक ने पहले अपने प्रेमी के साथ एसएमएस के जरिए चैट किया और फिर प्रेमी शमशाद अकेले नाबालिग के घर के पास पहुंचा। बाद में घर के पास एक पेड़ के उसने नाबालिग के साथ सम्बन्ध बनाया। 

यह भी पढ़ें :

तीन युवकों ने किया 13 वर्षीया नाबालिग के साथ सामुहिक दुष्कर्म, एक गिरफ्तार

इसी बीच बेटी को घर पर नहीं देख कर माँ उसे खोजने घर से बाहर निकली। माँ को आता देख प्रेमी मौके से भाग निकला और नाबालिग ने झूठी कहानी गढ़ दी। 

उन्होंने बताया कि पुलिस ने शमशाद को रेप के आरोप में मंगलवार की रात गिरफ्तार कर लिया है। उसने पूछताछ में दुष्कर्म की बात स्वीकार कर ली है। आरोपी ने पुलिस को यह भी बताया कि रात में नाबालिग लड़की ने कौन सी ड्रेस पहनी थी। नाबालिक पीड़िता की बुधवार को मेडिकल जांच भी कराई गई। 

मौके पर थाना प्रभारी शुभम कुमार, एसआई गौतम कुमार, एसआई शिल्पी भगत समेत अनेक लोग उपस्थित थे।

देश की अन्य खबरें