गढ़वा : प्रेमी प्रेमिका की रजामंदी से ग्रामीणों ने कराई शादी

डंडई थाना क्षेत्र के बौलिया गांव के नौ लाखा दुर्गा मंदिर के प्रांगण में शादी संपन्न हुई

गढ़वा : प्रेमी प्रेमिका की रजामंदी से ग्रामीणों ने कराई शादी

गढ़वा:

गढ़वा जिले के डंडई थाना क्षेत्र के बौलिया गांव के नौ लखा दुर्गा मंदिर के प्रांगण में रविवार शाम को एक प्रेमी युगल की ग्रामीणों ने रजामंदी से शादी करा दी। शादी में दोनों तरफ के अभिभावक और उनके रिश्तेदार भी मौजूद थे।

ग्रामीणों ने बताया कि सोनेहरा पंचायत के बौलिया गांव के जयप्रकाश नगर टोला निवासी सूर्यदेव भूईयाँ के 23 वर्षीय पुत्र कमलेश भूईयाँ व उसी टोला निवासी जनू भूईयाँ की 19 वर्षीय लड़की फुलझड़ी कुमारी पिछले 2 वर्षों से एक दूसरे से प्रेम करते थे।

वही 1 साल पहले दोनों बिना बताए ही घर से फरार हो गए थे और बाहर में ही अपना घर बसाने के लिए कार्य कर जीविकोपार्जन चला रहे थे। करीब एक साल बाद घर आते ही दोनों के परिजनों ने शादी कराने का सहमति जताई।

तत्पश्चात रविवार शाम को ग्रामीणों ने गांव के ही नौलक्खा दुर्गा मंदिर के प्रांगण में शादी करा दी।

दोनों की शादी हिंदू रीति रिवाज से किया गया। शादी समारोह को लेकर दोनों पक्ष के लोगों सहित रिश्तेदार और गांव घर की महिला, पुरुष नौजवान और बच्चे बड़े ही उत्सुकता के साथ मंदिर प्रांगण में पहुंचे थे।

ग्रामीणों में खुशी का माहौल देखा गया। अन्य ग्रामीणों ने बताया कि दहेज प्रथा का उन्मूलन के लिए प्रेम विवाह को अपनाना अच्छा कदम है।

मौके पर लड़के के पिता सूर्य देव भुइयां ने बताया कि दोनों पक्ष के लोग बैठक कर राय मशवरा और सहमति जताकर शादी का निर्णय लिए हैं। शादी को लेकर लड़का लड़की का भी रजामंदी है। वहीं लड़की के परिजनों ने भी आपसी सहमति से ही शादी होने की बात बताई है।

इधर सोनेहरा पंचायत के समाजसेवी सह मुखिया प्रत्याशी सकलदीप पासवान ने बताया कि मंदिर बनने के बाद से पहली बार हिंदू रीति रिवाज से प्रेम विवाह का कार्यक्रम संपन्न हुआ है।

देश की अन्य खबरें