आलसपन बन रहा है मौतों की वजह

दुनिया में हर रोज कई लोग मरते हैं. कुछ बीमारियों की वजह से, तो कुछ हादसों की वजह से

ऑनलाइन डेस्क :

हाल ही में WHO ने मौतों के आंकड़े को लेकर एक नई रिपोर्ट जारी की है, जिसमें चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. WHO की रिपोर्ट में बढ़ती मौतों की बजहों को उजागर किया गया है.

रिपोर्ट के मुताबिक कई कारणों से मौतें हो रही हैं, जिनमें आलसपन और खराब लाइफस्टाइल भी मौत की वजह है. 


आलसपन है मौत की वजह

WHO के मुताबिक हर वर्ष दुनिया के 8 लाख 30 हज़ार लोग इसलिए मारे जाते हैं क्योंकि वो आलसी हैं और कुछ नहीं करते। WHO की मानें तो जो लोग हफ्ते में 150 मिनट की एक्सरसाइज भी नहीं करते या हफ्ते में 75 मिनट तक हैवी वर्कआउट नहीं करते उन्हें आलसी माना जाता है. इतनी कम फिजीकल एक्टीविटी करना मौत की वजह है. 

खराब लाइफस्टाइल से मौत

WHO की नई रिपोर्ट के मुताबिक भारत समेत दुनिया भर में हार्ट अटैक, कैंसर और डायबिटीज मौतों का सबसे बड़ा कारण हैं. ये बीमारियां खराब लाइफस्टाइल के चलते होती हैं. यानी कि खराब लाइफस्टाइल मौतों की वजह है. रिपोर्ट के मुताबिक दुनियाभर में कुल मौतों में से 74% मौतें लाइफस्टाइल वाली बीमारियों की वजह से होती हैं. खराब लाइफस्टाइल वाली बीमारियों से मरने वालों में 86% लोग मिडिल इंकम देशों के हैं. आंकड़ों के मुताबिक हर 2 सेकेंड में एक व्यक्ति लाइफ स्टाइल वाली बीमारी की वजह से मर रहा है.

भारत में मौतों की वजह

भारत में 66% लोग खराब लाइफस्टाइल वाली बीमारियों की वजह से मरते हैं. भारत में हर साल 60 लाख 46 हज़ार 960 लोग खराब लाइफ स्टाइल होने की वजह से गंभीर बीमारियों का शिकार होकर मर जाते हैं. भारत में इस तरह जान गंवाने वाले कुल लोगों में से 54% लोगों की उम्र 70 वर्ष से कम है.

भारत में हर वर्ष 28% लोग दिल की बीमारी से मारे जा रहे हैं, 12% लोग सांस की बीमारियों से, 10% लोग कैंसर से , 4% लोग डायबिटीज़ से और बाकी 12% लोग दूसरी लाइफस्टाइल वाली बीमारियों की वजह से मर रहे हैं.

भारत में 15 वर्ष से ऊपर का एक व्यक्ति हर साल औसतन 5.6 लीटर शराब पी जाता है। इसमें पुरुष 9 लीटर, और महिलाएं 2 लीटर शराब पी जाती हैं। 15 वर्ष से उपर के 28% लोग तंबाकू का सेवन करते हैं जो कैंसर जैसी बीमारी का कारण बनता है.

दुनियां में मौतों की वजह

दिल की बीमारियां 

दुनिया में तीन में से एक मौत की वजह दिल की बीमारी बनती है। यानी कि 1 करोड़ 70 लाख लोग हर साल इस बीमारी से मर रहे हैं।दिल की बीमारी के शिकार दो तिहाई लोग गरीब देशों में रहते हैं।हाईबीपी के शिकार आधे लोगों को पता ही नहीं है कि उन्हें हाई ब्लड प्रेशर है. दुनिया में 30 से 79 वर्ष के 130 करोड़ लोग हाई ब्लड प्रेशर के शिकार हैं.

सांस की बीमारियां 
 
दुनिया भर में होने वाली 13 मौतों में से 1 मौत सांस की बीमारियों की वजह से हो रही हैं। दुनिया भर में 40 लाख लोग केवल सांस की बीमारी होने की वजह से मर रहे हैं। भारत जैसे कई देशों में इन बीमारियों से होने वाली मौतों के बढ़ने की बड़ी वजह वायु प्रदूषण है.

तंबाकू और कैंसर

80 लाख लोगों की जान तंबाकू ले रहा है. इनमें से 10 लाख लोग स्मोकिंग की वजह से मर जाते हैं. हर 6 में से 1 मौत की वजह कैंसर है। दुनिया भर में हर साल 90 लाख से ज्यादा लोग कैंसर की वजह से मर रहे हैं.

खराब खान-पान

80 लाख लोग हर साल खराब खाने, कम खाने या ज्यादा खाने की वजह से मर जाते हैं.

देश की अन्य खबरें