पलामू में युवा लोगों के बीच पौधे बांटकर कर रहे मानसून का स्वागत

अब वक़्त है कि पौधा रोपण कर प्रकृति का कर्ज उतारा जाए

पलामू में युवा लोगों के बीच पौधे बांटकर कर रहे मानसून का स्वागत

डालटनगंज :

पलामू में युवा लोगों के बीच वृक्षारोपण के लिए पौधे वितरित कर आने वाले मानसून का स्वागत कर रहे हैं। उन्होंने इस अभियान की शुरुआत के लिए गुरुवार वट-सावित्री पूजा का शुभ दिन चुना। 

युवाओं ने दावा किया कि बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण ही हमारी ऑक्सीजन की मांग को पूरा कर सकता है।

इस अभियान का नेतृत्व कर रहे सामाजिक कार्यकर्ता सनी शुक्ला ने कहा, “पलामू का मौसम बेहद गर्म रहता है, और विगत कुछ वर्षों में पेड़ों की अंधाधुन कटाई की गई है। उसका सीधा असर पलामू क्षेत्र के जल स्तर और मौसम दोनों पर पड़ा है। भूजल और सतही जल स्तर भी तेजी से घट रहा है। हमने महसूस किया कि केवल बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण ही हमें इस गंभीर स्थिति से बचा सकता है।”

शुक्ला ने आगे कहा, “कोरोना महामारी की हालिया लहर ने हमें ऑक्सीजन के महत्व का एहसास कराया है। प्रकृति को हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए हमने पूरे मानसून के दौरान हजारों पेड़ों का नमूने निशुल्क वितरित करने का फैसला किया है।

शुक्ला के साथी राहुल कुमार दुबे ने कहा, “'प्रकृति के बिना जीवन अधूरा है, झारखण्ड में रहने वाले हर शख्स को प्रकृति से लगाव है, ये लगाव सिर्फ उपभोग तक नहीं रहना चाहिए, बल्कि हमें ज्यादा से ज्यादा पौधा लगाना चाहिए।"

अभियान के पहले दिन सदर ब्लॉक के प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रखंड चिकित्सा प्रभारी, सदर सी. ओ, सदर बी. ई. ओ, कुंड मुहल्ला, पहाड़ी मुहल्ला, जीएलए कॉलेज परिसर में प्रभारी प्रचार्य सत्येंद्र सिंह, जे. एस. कॉलेज के शिक्षक कमलेश पांडेय, एवम ढेर सारे ब्लॉक कर्मी एव ब्लाक में आए सैकड़ों ग्रामीणों के बीच पौधों का वितरण किया गया।

इस पौधा वितरण कार्यक्रम में उनके साथ मे रणधीर तिवारी, नदीम खान परवेज अख्तर मौजूद थे। 

देश की अन्य खबरें