टीपीसी उग्रवादियों के खिलाफ पुलिस को मिली बड़ी सफलता, चार धराये 

लेवी को लेकर कोल वाहनों को जलाने वाले गिरोह के हैं सदस्य, हथियार भी बरामद 

टीपीसी उग्रवादियों के खिलाफ पुलिस को मिली बड़ी सफलता, चार धराये 

चतरा :

चतरा पुलिस को तृतीय-सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी (TPC) के उग्रवादियों के खिलाफ बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने टंडवा के आम्रपाली और मगध कोल परियोजना में लेवी को लेकर कोल वाहनों को जलाने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए चार सदस्यों को हथियारों के साथ धर दबोचा है।

गिरफ्तार उग्रवादियों में सब जोनल कमांडर कुंदा थाना क्षेत्र के गेंदरा गांव के मेघाबाद टोला निवासी विशुन गंझू का पुत्र जगनाथ गंझू उर्फ आजाद के अलावा सक्रिय सदस्य टंडवा थाना क्षेत्र के उत्तराठी गांव निवासी महेश सिंह का पुत्र दिलीप कुमार सिंह उर्फ चट्टान सिंह, हजारीबाग जिले के केरेडारी थाना क्षेत्र के बुंडू गांव निवासी स्वर्गीय डेमन गंझू का पुत्र अशोक गंझू तथा लावालौंग थाना क्षेत्र के गोदगोदिया गांव निवासी बिरजू गंझू का पुत्र पांडू गंझू उर्फ नितेश गंझू उर्फ जितेंद्र का नाम शामिल है।

पुलिस अधीक्षक ऋषभ कुमार झा ने घटना की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि टीएसपीसी जोनल कमांडर आक्रमण गंझू एवं भीखन गंझू के नेतृत्व में दस्ता को सक्रिय होने की गुप्त सूचना मिली थी। जिसके आलोक में अपर पुलिस अधीक्षक अभियान निगम प्रसाद के नेतृत्व में सीआरपीएफ 190वीं बटालियन और जिला बल के जवानों से साथ अभियान चलाने का निर्देश दिया गया था। जिसके आलोक में पिपरवार थाना क्षेत्र के लारंग की ओर से छापेमारी दल आ रहा था। इसी बीच टीएसपीसी दस्ता की आहट मिली। दस्ता के सदस्य पहाड़ी से नीचे उतर रहे थे। लेकिन जैसे ही उनकी नजर पुलिस बल पर पड़ी वे भागने लगे। जवानों ने खदेड़कर जगनाथ गंझू, दिलीप कुमार सिंह एवं अशोक गंझू को दबोच लिया।

एसपी ने बताया कि जगनाथ गंझू टीएसपीसी का सब जोनल कमांडर है। इन तीनों के खिलाफ टंडवा थाना में कई मामला दर्ज है। पूछताछ के बाद चौथे सदस्य के नाम का खुलासा हुआ। जिसकी गिरफ्तारी लावालौंंग थाना क्षेत्र से हुई। बरामद हथियार व कारतूस में 5.56 एमएम का दो रेगुलर इंसास, 5.56 एमएम का 178 कारतूस, दो मैगजीन, एक देसी पिस्टल, एक देसी कट्टा, एक वायरलेस सेट, नक्सली रसीद, .315 बोर का 27 कारतूस, 9 एमएम का चार कारतूस व लेवी का छह हजार रुपया नगद शामिल है।

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार उग्रवादियों ने 15 और 26 अप्रैल को कोयला लदा क्रमश: दो एवं पांच वाहनों में आग लगाने की घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकारी है।

देश की अन्य खबरें