क्या आपको भी जल्दी-जल्दी आती है जम्हाई

समस्याओं का हो सकता है संकेत

ऑनलाइन डेस्क :

जम्हाई या उबासी लेना हमारे शरीर की एक स्वाभाविक प्रतिक्रिया है, जो हर इंसान को होती ही है। अक्सर आप ये महसूस करते होंगे कि जब भी आप किसी और को जम्हाई लेते हुए देखते हैं तो आपको भी जम्हाई आ ही जाती है।

मेडिकल रिसर्च के एक अध्ययन में बताया गया था कि जम्हाई लेने से मस्तिष्क में तापमान को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। आमतौर पर हम जम्हाई तब लेते हैं जब फेफड़ों में पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाती है और हमें अतिरिक्त ऑक्सीजन की जरूरत होती है।


जम्हाई लेने से मस्तिष्क की गर्मी भी निकलती है। लेकिन अगर आपको जल्दी-जल्दी और लगातार जम्हाई आने लगे, तो ये किसी बीमारी का भी संकेत हो सकता है। जानते हैं कि बार-बार जम्हाई आना किन बातों का हो सकता है संकेत।

आयरन की कमी (एनीमिया)

एनीमिया (रक्त में आयरन की कमी) और थकान अत्‍यधिक जम्‍हाई का कारण होती है। ज्यादातर लोग थकान और सुस्‍ती को आम समस्‍या मान कर डॉक्‍टर के पास नहीं जाते। लेकिन जरूरत से ज्‍यादा थकान और बहुत ज्‍यादा जम्‍हाई महसूस होने पर आपको अपने आहार में आयरन युक्त खाद्य पदार्थों को लेना चाहिए। इसके अलावा एनीमिया का टेस्‍ट भी कराना चाहिए।

थायरॉइड ग्रंथि की समस्या

थायरॉयड धीरे-धीरे चयापचय को नियंत्रित कर आपको बहुत अधिक थकान महसूस कराता है। थकान महसूस होने पर आपको लगातार जम्‍हाई आने लगती है। बार-बार जम्‍हाई आने पर आपको थायरॉयड की जांच करवानी चाहिए। एक साधारण रक्त परीक्षण से आपको पता चल जायेगा कि आपका थायराइड सामान्‍य रूप से काम कर रहा है या नहीं।

खानपान की गड़बड़ी

कई बारा खानपान में गड़बड़ी की वजह से भी लगातार जम्हाई आती है। जैसे अधिक मात्रा में कॉफी पीने से थकान और जम्‍हाई का कारण बनती है। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि शक्कर से भरपूर खाद्य पदार्थों से ऐसा प्रभाव होता है। अगर आपको खाने के बाद थकान या जम्‍हाई महसूस होती है, तो अपने आहार के प्रति सावधान हो जाएं।

दवाओं का साइड इफेक्ट

कई बार दवाओं के साइड इफेक्ट्स से भी ज्यादा जम्हाई आ सकती है। अवसाद या चिंता के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली कुछ दवाएं, साइड इफेक्‍ट के रूप में जम्‍हाई पैदा कर सकते हैं।

नार्कोलेप्सी रोग

अधिकांश लोग दिन के अंत में थकान के कारण जम्‍हाई लेना शुरू करते हैं, लेकिन कुछ लोग थका हुआ महसूस करने के कारण पूरा दिन सोने की कोशिश करते हैं। इस अवस्‍था को नार्कोलेप्‍सी के रूप में जाना जाता है। यह बहुत अधिक गंभीर बीमारी नहीं है लेकिन आपके दैनिक कार्य में बाधा उत्‍पन्‍न कर सकती है। इसलिए इस समस्‍या को दूर करने के लिए चिकित्‍सक से संपर्क करें।

देश की अन्य खबरें