दो लड़कियों की बचपन की दोस्ती इश्क में बदली, एक-दूजे से शादी के लिए पहुंचीं थाने

नालंदा की रहने वाली दोनों छात्राएं बीएससी में एक साथ पढ़ती हैं

दो लड़कियों की बचपन की दोस्ती इश्क में बदली, एक-दूजे से शादी के लिए पहुंचीं थाने

पटना: बिहार के नालंदा की दो छात्राओं के बीच मोहब्बत इस कदर परवान चढ़ी कि वे अपने घरों से भागकर धनबाद महिला थाना पहुंच गईं और पुलिस से शादी करा देने की जिद ठान ली।

महिला पुलिस ने उन्हें समझा कर घर लौट जाने को कहा, लेकिन वे कहती रहीं कि दोनों एक-दूसरे को दिलोजान से चाहती हैं और ताउम्र पति-पत्नी की तरह रहना चाहती हैं।


लड़कियों के जिद पर अड़े रहने की वजह से महिला पुलिस ने उनके घरवालों को सूचित किया। इसके बाद नालंदा जिले की एक पुलिस टीम के साथ लड़कियों के परिजन बुधवार को धनबाद पहुंची है।

महिला थाना प्रभारी कुमारी विशाखा ने बताया कि लड़कियों में से एक के परिवार वालों ने दूसरे पर मामला दर्ज किया है। इन्हें थाना पुलिस के हवाले कर दिया जाएगा। दोनों लड़कियों ने पुलिस को बताया कि दोनों के बीच बचपन से गहरी दोस्ती है। अभी दोनों बीएससी में एक साथ पढ़ती हैं।

दोनों ने कई बार एक-दूसरे के साथ रहने की इच्छा जताई लेकिन घर वाले तैयार नहीं हुए। इनमें से एक लड़की की शादी उसके घरवालों ने एक लड़के से तय कर दी है। शादी की तारीख आगामी 22 फरवरी तय की गई है। लड़कियां नालंदा के अस्थावां थाना क्षेत्र की रहने वाली हैं। मंगलवार को धनबाद के महिला थाने की पुलिस पूरे दिन इस केस में उलझी रही।

सनद रहे कि 6 सितंबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने आपसी सहमति से बने समलैंगिक रिश्‍ते को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया है। इसी के साथ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 377 के उस प्रावधान को भी हटा दिया गया जिसके तहत समलैंगिक संबंध की इजाजत नहीं थी।