घर छोड़ने के बाद हो गईं थीं ड्रग एडिक्ट

कंगना ने बताया था, ' मुझे एक पार्टी में ले जाया गया. मुझे महसूस हुआ कि मेरी ड्रिंक में कुछ मिलाया है

ऑनलाइन डेस्क :

कंगना रनौत आज अपना 34वां जन्मदिन मना रहीं हैं.उनके बर्थडे के ठीक एक दिन पहले उन्हें नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया.ये अवॉर्ड उन्हें उनकी फिल्म मणिकर्णिका (Manikarnika) और पंगा (Panga) के लिए मिला है. कंगना का ये चौथा नेशनल अवॉर्ड है. इसके पहले वो फैशन, क्वीन और तनु वेड्स मनु रिटर्न्स (Tanu Weds Manu Returns) के लिए ये अवॉर्ड अपने नाम कर चुकी हैं.

आज उनके जन्मदिम के मौके पर चलिए बताते हैं आपको उनसे जुड़ी कुछ खास बातें.

कंगना का जन्म 23 मार्च 1987 को हिमाचल के मंडी जिले के सूरजपुर में एक राजपूत परिवार में हुआ था. उनके परिवार में उनकी बहन रंगोली और भाई अक्षत हैं. उनकी मां एक स्कूल में टीचर हैं और उनके पिता बिजनेसमैन हैं.कंगना ने एक इंटरव्यू के दौरान खुलासा किया था कि वह एक ड्रग एडिक्ट थीं. कंगना ने कहा था, मैं जब 15 या 16 साल की थी तब मैं घर से भाग गई थी और मुझे लगा कि मैं सभी सितारों को अपनी मुट्ठी में भर लूंगी. उन्होंने बताया था कि घर छोड़ने के बाद वो ड्रग एडिक्ट हो गई थीं.

इंटरव्यू में कंगना ने कहा था कि इसी दौरान वह एक शख्स से मिली थीं और उसने उन्हें ड्रग एडिक्ट बना दिया था. कंगना ने बताया था, ' मुझे एक पार्टी में ले जाया गया. मुझे महसूस हुआ कि मेरी ड्रिंक में कुछ मिलाया है क्योंकि उस वक्त जो कुछ हो रहा था वो मेरी मर्जी से नहीं हो रहा था. फिर वो शख्स खुद को मेरा पति मानने लगा. जब मैं उससे कहती थी कि तुम मेरे बॉयफ्रेंड या पति नहीं हो तो वो मुझे चप्पल से मारता था. वह मुझे इंजेक्शन देने लगा ताकि मैं काम ना कर सकूं.

कंगना ने एक बार ट्वीट के जरिए ये भी बताया था कि उन्हें उनके पिता डॉक्टर बनाना चाहते थे, लेकिन वो एक्ट्रेस बनना चाहती थी. वो 12वीं में फेल भी हो गईं थीं. उनके पिता काफी सख्त मिजाज के थे और कंगना का शुरू से बगावती स्वभाव था. जब उनके पिता ने उनकी बात नहीं मानी तो वो घर से भाग गईं.

कंगना की पहली फिल्म वर्ष 2006 में इमरान हाशमी और शाहनी आहूजा के साथ गैंगस्टर रिलीज हुई थी. उनकी ये फिल्म जबरदस्त तरह से हिट हुईं थीं. उन्हें इस फिल्म के लिए फिल्मफेयर के सर्वश्रेष्ठ एक्ट्रेस डेब्यू के अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया.इसके बाद कंगना ने कभी पीछे मुड़ के नहीं देखा, उन्होंने लगातार कई हिट फिल्में अपने नाम की. वो बॉलीवुड की एक ऐसी एक्ट्रेस बनकर सामने आई हैं जो बिना हीरो के 100 करोड़ी फिल्में देती हैं.

बताते चलें कि ये चौथी बार है जब कंगना ने नेशनल अवॉर्ड अपने नाम किया है. उन्हें सबसे पहले फिल्म फैशन के लिए वर्ष 2008 में बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस के लिए अवॉर्ड मिला था. इसके बाद उन्हें उनकी फिल्म क्वीन के लिए बेस्ट एक्ट्रेस के लिए नेशनल अवॉर्ड मिला था. उसके बाद वर्ष 2015 में तनु वेड्स मनु रिटर्न्स के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड से नवाजा गया था.

देश की अन्य खबरें