Advertise Here

रोज पिएं कॉफी पाचन संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए 

कॉफी (Coffee) पीने से पित्त की पथरी और पैन्क्रियाटाइटिस यानी अग्नाशय की सूजन सहित कुछ पाचन संबंधी विकारों (Digestion Problems) के छुटकारा मिल सकता है.

ऑनलाइन डेस्क :

रोजाना कॉफी (Coffee) पीना पाचन (Digestion) के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है. ऐसा दावा एक शोध में किया गया है. इस शोध में यह बात सामने आई है कि कॉफी पीने से पित्त की पथरी और पैन्क्रियाटाइटिस यानी अग्नाशय की सूजन सहित कुछ पाचन संबंधी विकारों के छुटकारा मिल सकता है. यह भी खुलासा किया गया कि कॉफी आंत की गतिशीलता को बढ़ावा देते हुए पाचन की प्रक्रिया में सहायता कर सकती है. कॉफी पर की गई इस शोध की रिपोर्ट 'कॉफी और पाचन पर इसका प्रभाव' शीर्षक के साथ इंस्टीट्यूट फॉर साइंटिफिक इंफॉर्मेशन ऑन कॉफी में प्रकाशित हुई है.



इटली के यूनिवर्सिटी ऑफ मिलान के वैज्ञानिकों के अनुसार, 'शोध बताता है कि कॉफी का सेवन पाचन की आम समस्या जैसे कब्ज में लाभ पहुंचाता है. साथ-साथ लिवर की बीमारियों में कमी के संकेत देता है.’

 

पित्ताशय की पथरी का रोग एक आम पाचन विकार है. पित्ताशय शरीर की पित्त प्रणाली का एक हिस्सा होता है, जिसमें पित्त नलिकाएं, अग्नाशय और लिवर आदि शामिल होते हैं. पित्ताशय की पथरी क्रिस्टल जैसा पदार्थ होता है जो पित्ताशय में बनता है. यह वयस्क आबादी का लगभग 10-15 प्रतिशत प्रभावित करता है.


शोधकर्ताओं ने कहा कि किस तरीके से कॉफी पित्ताशय की बीमारी से बचा सकती है, इसके बारे में अभी खुलासा नहीं हुआ है, लेकिन यह देखा गया है कि कॉफी के रोजाना सेवन से जोखिम कम होता है. शोध में इस सवाल का जवाब भी खोजने की कोशिश की गई कि कॉफी सीने में जलन या गैस्ट्रो-ओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (जीओआरडी) तो पैदा नहीं करती? अधिकांश अध्ययनों का सुझाव है कि कॉफी इन स्थितियों के लिए जिम्मेदार नहीं है.

अध्ययनों से पता चलता है कि कॉफी पीने के बाद शरीर में ऐसे बैक्टीरिया बढ़ जाते हैं जो फायदा पहुंचाते हैं. कॉफी में फाइबर और पॉलीफेनोल्स पाए जाते हैं, जो शरीर के लिए फायदेमंद हैं. कॉफी का सेवन गैस्ट्रिक एसिड, पित्त और अग्नाशय का स्राव करके पाचन सुधारता है.